अपहृत बालक को छुडाया: तीन गिरफ्तार

0
194

1 (1)लोकल इंदौर 27 जून। इंदौर पुलिस ने छह साल के एक बच्चे के अपहरण के मामले में 15 घंटों के भीतर ही बच्चे को सकुशल छुड़ाते हुए दो अपहर्ताओं और साजिश में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के अनुसार अपहरणकर्ता बीबीए के स्टूडेंट है और अपने महंगे शौक की वजह से कर्ज में डूब गए थे। कर्ज को पटाने के लिए ही उन्होंने यह साजिश रची थी।
इंदौर पुलिस के डीआईजी श्री राकेश गुप्ता ने पत्रकारों को बताया कि कृष्णा नामक बच्चे को बेटमा से अगवा कर लिया गया था। ​ कृष्णा को इंदौर के एलआईजी इलाके से मुक्त कराया जहां उसे एक कार में बंधक बनाकर रखा गया था। कृष्णा के अपहरण की साजिश को इंदौर के सॉफ्ट विजन कॉलेज में बीबीए कर रहे दो छात्रों सोहित चौरसिया और नितीश चौधरी ने रचा था। दोनों अय्याशी की वजह से कर्ज में डूब गए थे। ऐसे में कर्ज से उबरने के लिए इन्होंने कृष्णा के अपहरण की साजिश रची थी। उन्होंने पहले 11 लाख और फिर सात लाख रूपयों की फिरौती मांगी थी।

उन्होनें बताया कि बेटमा इलाके में रहने वाले कल्लू ने ही इन्हें अपने घर के नजदीक रहने वाले परिवार के बेटे कृष्णा को अगवा करने की सलाह देते हुए उसे अपहरण करने में भी अहम भूमिका निभाई । पुलिस को अपहर्ताओं के पास से पेट्रोल की बोतल और बेल्ट भी मिला है जिससे अंदेशा जताया जा रहा है कि वह बच्चे के साथ किसी तरह की अनहोनी कर सकते थे। इस मामले का एक अन्य आरोपी मोहित फरार हो गया है। वो छतरपुर का रहने वाला है और उसे अपहरण के लिए ही सोहित ने छतरपुर से इंदौर बुलवाया था। नीतिश झारखंड का रहने वाला है और वह यहां रहकर पढ़ाई कर रहा था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here