अपहृत बालक से ही लिखवाया था फिरोती का मैसेज

0
173

लोकल इंदौर ३ जून . इंदौर से अपह्त सुशील की जान तीन दिन खतरे में रही। खौफ के उन लम्हों को बताते बताते उसकी आंखें भर आई। बकौल सुशील 15 लाख रुपये की फिरौती की मांग के लिए पिता के मोबाइल फोन पर किया गया मैसेज आरोपी की धमकी से घबराकर उसने ही टाइप किया था।

31 मई को अपहरण के बाद मुक्त होने तक की पूरी दास्तान सुशील ने सुनाई तो कई बार उसकी आंखों में आंसू छलक उठे। सुशील के मुताबिक उसके घर में किराये पर रहने वाले चंदन को वह भैया कहता था। कई बार वह उसके साथ बाजार जा चुका है। 31 मई को चंदन उसे आइसक्रीम खिलाने के बहाने बाजार ले गया था, वहां से वह धमकी देकर उसे एक बस में ले गया। उसका कहना था कि वह अब तक 26 लोगों की हत्या कर चुका है। अगर शोर मचाया तो वह उसे मार देगा। इसके बाद घबरा गया। तीन दिनों में इंदौर से भोपाल और फिर झांसी और कोंच हर दिन दूसरे शहर में उसे रखा गया। चंदन पढ़ा लिखा नहीं है। 15 लाख रुपये की फिरौती की मांग का संदेश उसने उससे ही लिखवाया था। एक बार पिता से उसकी मोबाइल पार बात भी करायी थी। उसने पिता से कहा था कि यदि 15 लाख रुपये नहीं मिले तो चंदन उसकी हत्या कर देगा। तीन दिनों में तीन बार ही उसे खाना दिया गया। दहशत में बिताये गए क्षणों के बारे में बताते बताते उसके रोंगटे खड़े हो जाते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here