इंदौर के श्री नगर तिहरे हत्याकांड में तीनों को फांसी

0
228

fansiलेकल इंदौर 13 दिसबर । करीब दो साल पहले हुए अष्लेषा मर्डर कांड में फैसला सुनाते हुए तीनों आरोपियों को जिला अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है। जानकारी के मुताबिक इस तिहरे हत्याकांड में तीनों आरोपियों नेहा वर्मा , राहुल और अजय को विषेष न्यायधीष डी एन मिश्रा की कोर्ट ने दोषी पाया । तीनों को फांसी की सजा दी गई है। गौरतबल है कि 19 जून 2011 को बैंक ऑफ इंडिया के आंचलिक कार्यालय के वसूली अधिकारी निरंजय देशपांडे निवासी उज्जैन की पत्नी मेघा (45), बेटी अश्लेषा (23) और सास रोहिणी फड़के (70) की तीन आरोपियों ने दिनदहाड़े गोली मारकर और चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी थी।चार दिन में पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए राहुल उर्फ गोविंद पिता चुन्नीलाल निवासी घनश्यामदास नगर, मनोज अटोदे पिता नानूराम निवासी विद्या नगर और नेहा वर्मा पिता अनिल निवासी देवेंद्र नगर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने इनके पास से लूटा गया माल (सवा लाख रु.) और हत्या में इस्तेमाल पिस्टल बरामद की थी। नेहा वर्मा का आरोपी राहुल से प्रेम प्रसंग था। दोनों अति महत्वाकांक्षी थे और पैसा कमाना चाहते थे, इसलिए बड़ी वारदात की साजिश रची। घटना के दो दिन पहले 17 जून 2011 को नेहा ने मेघा देशपांडे को ऑर्बिट मॉल में कीमती गहने पहने देखा। तब उसने मेघा से पहचान कर मोबाइल नंबर ले लिया था। बाद में घर का पता कर घटना को अंजाम दिया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here