इंदौर के सूबेदार को हटाया तो शिवराजसिंह बोले यही कांग्रेस का क़ानून के प्रति सम्मान है?

0
1962

लोकल इंदौर ३ अप्रैल . इंदौर में कांग्रेस नेता से विवाद का वीडियो वायरल होने पर सूबेदार को फील्ड से हटाने के मामले ने राजनितिक रूप ले लिया है . प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने twitter  पर कहा- कमलनाथ सरकार ने इस निडर पुलिस अफ़सर को अपना कर्तव्य निभाने के लिए और कांग्रेस की गुंडागर्दी को न मानने पर लाइन अटैच करवा दिया है। वाह, @RahulGandhi जी वाह, क्या यही कांग्रेस का क़ानून के  प्रति सम्मान है?

मामला मंगलवार शाम चार बजे का है। सूबेदार अरुण सिंह राजवाड़ा क्षेत्र में अपनी टीम के साथ चेकिंग कर रहे थे। उन्होंने मनीष दवे नामक युवक को गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात करते पकड़ लिया। मनीष ने परिचित कांग्रेस नेता अखिलेश जैन को मौके पर बुला लिया। अखिलेश ने बताया कि सूबेदार उससे एक हजार रुपए ले रहे थे और पांच सौ की रसीद दे रहे थे। हम वहां पहुंचे तो विवाद करने लगे। इस पर हमने उनका वीडियो बना लिया। हमने कांग्रेस अध्यक्ष को इसकी शिकायत की है। वहीं सूबेदार का कहना है कि मैंने जो भी किया, सही किया है। अगर एक भी आरोप सही निकला तो मैं नौकरी से इस्तीफा दे दूंगा। इस मामले के बाद सूबेदार को फील्ड से हटा दिया गया है, एसएसपी ने उन्हें तबल कर थाने में बैठने को कहा है।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here