इसे कहते है ,आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है …..

0
328
 लोकल इंदौर १४ दिसम्बर .वे खुद एक इंजिनियर है मगर कभी अपनी विकलांगता को आड़े नही आने दिया .अपनी कमजोरी को उन्होंने अविष्कार में बदल दिया . पेशे से इंजीनियर मिर्जा इमरान बेग ने अपने साथियों के साथ मिल कर ऐसा तिपहिया बाहन बना डाला जो बैटरी से चलता है और वह भी  35 किलोमीटर ,कीमत भी मात्र  ३५ हजार .
इंदौर में अपने किस्म का यह  पहला वाहन है . इंदौर एम एस एम ई  और हेंडी केप्ट केयर प्र लि के सहयोग से बनाये  ये  तिपहिया वाहन  जहां हल्का है वही सस्ता और सुविधा जनक भी. वाहन की डिज़ाइन तैय्यार करने वाले डिज़ाइनर भी विकलांग ही हैं .डिज़ाइनर   मिर्जा इमरान  बेग ने लोकल इंदौर को बताया कि चूंकी मुझे क्या क्या असुविधा आती थी ये मालुम था . इन सब को ध्यान में रख कर मेरे साथियो रविन्द्र और नवीन के अलावा अन्य लोगों ने इस प्रोजेक्ट को पूरा किया . उनके अनुसार इंदौर में येअपनी  किस्म का पहला वाहन है .हालांकि बताया  जा रहा है  कियह देश का सबसे सस्ता और हल्का वाहन हैं जिसे इंदौर के डिज़ाइनर  निरंजन पाटीदार ने डिज़ाइन किया हैं इस विकल की बैटरी एक बार 6 से 7 घंटे चार्ज करने पर यह 35 किलोमीटर का सफर तय करेगा इसकी कीमत भी मात्र 35  हजार रुपये  हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here