ईद मुबारक

0
318

ईद मुबारक

ईद मुबारक
हमको,
तुमको,eidएक-दूसरे की बाहों में
बँध जाने की
ईद मुबारक।

बँधे-बँधे,
रह एक वृंत पर,
खोल-खोल कर प्रिय पंखुरियाँ
कमल-कमल-सा
खिल जाने की,
रूप-रंग से मुसकाने की
हमको,
तुमको
ईद मुबारक।

केदारनाथ अग्रवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here