एनआईए ने जारी किए हिंदुत्ववादी संगठनों से जुड़े10 लोगों के नाम

0
167

NIA लोकल इंदौर 23 जनवरी। नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी  एनआईए द्वारा हाल ही में जारी की गई एक लिस्ट में ऐसे 10 लोगों के नाम शामिल हैं जिनके तार संघ या अन्य हिंदुत्ववादी संगठनों से जुड़े हैं। इनमे मालवा क्षेत्र के अधिकांश लोगों के नाम है। साथ हीसंध प्रचारक रहे सुनिल जोशी का नाम है जिनकी हत्या हो चुकी है।

यूनियन होम सेक्रेटरी आर के सिंह ने इस रिपोर्ट पर मुहर लगाते हुए कहा है कि यह लिस्ट पुख्ता सबूतों के आधार पर तैयार की गई है। इस लिस्ट में शामिल 10 नाम हैं:
सुनील जोशी
यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता हैं जो 90 के दशक से लेकर 2003 तक मध्यप्रदेश के महु और देवास में सक्रिय रहे। इनका नाम समझौता एक्सप्रेस कांड और अजमेर शरीफ की दरगाह पर हुए धमाकों के आरोपियों की फेहरिस्त में शामिल है।

संदीप डांगे
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक हैं और 90 के दशक से 2006 तक महु, इंदौर, उत्तरकाशी और साझापुर में सक्रिय रहे हैं। इनपर समझौता एक्सप्रेस, मक्का मस्जिद और अजमेर धमाकों की साजिश में शामिल होने का आरोप है। फिलहाल यह फरार हैं।

लोकेश शर्मा
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर कार्यवाहक हैं और देवगढ़ में रहते हैं। इन्हें भी समझौता एक्सप्रेस कांड और मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया गया है।

स्वामी असीमानंद
90 के दशक से 2007 तक गुजरात के डांग स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखा वनवाशी कल्याण परिषद से जुड़े रहे। इन्हें समझौता एक्स्प्रेस, मक्का मस्जिद और अजमेर धमाकों में शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया जा चुका है।

राजेन्द्र (उर्फ समुंदर)
यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वर्ग विस्तारक रहे है। इन्हें समझौता एक्सप्रेस और मक्का मस्जिद धमाके के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है।

मुकेश वासानी
गोधरा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता रहे हैं। इन्हें अजमेर ब्लास्ट में शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया गया है।

देवेन्द्र गुप्ता
महु और इंदौर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रहे हैं। इन्हें अजमेर ब्लास्ट के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है।

चंद्रशेखर लेवे
2007 में शाहजहांपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रहे हैं। इन्हें मक्का मस्जिद ब्लास्ट में शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया जा चुका है।

कमल चौहान
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक हैं। इन्हें भी समझौता एक्सप्रेस, मक्का मस्जिद और अजमेर धमाकों की साजिश में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है।

रामजी कालसंगरा
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सहयोगी है। इनपर समझौता एक्सप्रेस कांड और मक्का मस्जिद ब्लास्ट में शामिल होने का आरोप है। फिलहाल यह फरार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here