कविता रैना हत्याकांड में आरोपी महेश बैरागी सेशन कोर्ट से बरी

0
1848

लोकल इंदौर 18 मई .इंदौर में हुए बहुचर्चित  कविता रैना हत्याकांड मामले  में शुक्रवार को आरोपी महेश बैरागी को सबूतों के अभाव में  सेशन कोर्ट ने  बरी कर दिया।  यह फैसला सुनते ही कोर्ट परिसर में मौजूद कविता के परिजनों में खासा आक्रोश देखा गया।

बैरागी पर आरोप था कि उसने कविता को मौत के घाट उतारने के बाद शव के 6 अलग-अलग टुकड़े कर दिए थे। मृतका के गायब होने के दो दिन बाद ये टुकड़े नवलखा क्षेत्र में नाले में मिले थे। इस चर्चित हत्याकांड के करीब ढाई महीने बाद पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया था। इसके बाद से वह जेल में है।

मित्रबंधु नगर में रहने वाली कविता रैना 24 अगस्त 2015 को स्कूल से लौट रही बेटी को लेने के लिए बस स्टैंड पर जा रही थी। तभी वह गायब हो गई। बाद में उसका शव नौलखा क्षेत्र के नाले में पड़ा मिला था, जो 6 टुकड़ों में बोरे में बंद था। पुलिस ने कॉलेनी में ही रहने वाले महेश बैरागी को हत्या के मामले में आरोपित बनाया है।

अभियोजन की तरफ से एजीपी एनए मंडलोई और राकेश पालीवाल पैरवी कर रहे हैं जबकि आरोपित की तरफ से सीनियर एडवोकेट चंपालाल यादव पक्ष रख रहे हैं। अभियोजन की तरफ से 41 गवाहों के बयान कराए गए। इधर, आरोपित ने भी बचाव साक्ष्य के रूप में एक गवाह को बुलाया। सप्ताहभर पहले दोनों पक्षों की अंतिम बहस सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा था, जो शुक्रवार को जारी किया गया।

हाई कोर्ट भी पहुंचा था मामला

सुनवाई की सुस्त गति को लेकर यह प्रकरण हाई कोर्ट भी पहुंचा था। आरोपित ने आरोप लगाया था कि अभियोजन जानबूझकर प्रकरण को धीमी गति से चला रहा है। इस पर हाई कोर्ट ने सेशन कोर्ट को 6 माह में प्रकरण की सुनवाई पूरी करने के आदेश दिए थे। इसके बावजूद सुनवाई करीब ढाई साल चली।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here