किरायेदारों की सूचना थाने में देना अनिवार्य

0
1110

इंदौर जिले में किरायेदारों, घरेलू नौकरों, छात्रावास में रहने वाले छात्र-छात्राओं एवं होटल-लॉज और धर्मशाला में ठहरने वाले व्यक्तियों की सूचना निर्धारित प्रपत्र में संबंधित निकटवर्ती थानों में देना जरूरी होगा। जिला प्रशासन द्वारा शहर में लोक शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत इस आशय का प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है।

 

यह आदेश 8 मई से लागू हो कर आगामी 6 जुलाईर्,2012 तक प्रभावशील रहेगा। आदेश का उल्लंघन दण्डनीय अपराध की श्रेणी में माना जाएगा ।अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री आलोक कुमार सिंह द्वारा इस संबंध में जारी आदेश के अनुसार मकान मालिकों को दुकान और मकान किराये से देने के पूर्व किरायेदार की सम्पूर्ण जानकारी निर्धारित प्रारूप में संबंधित क्षेत्र के थाने में देना होगी।

 

जानकारी देने के पहले मकान एवं दुकान किराये से नहीं दिया जा सकेगा।आदेश में इसी प्रकार निर्देश दिये गये हैं कि संबंधित थानों पर सूचना देने के बाद ही घरेलू नौकरों एवं व्यावसायिक नौकरों को रखा जाये। छात्रावासों में रह रहे छात्र एवं छात्राओं की सूचना भी विहित प्रारूप में संबंधित थाने को दी जाये । होटल, लॉज, धर्मशाला में रूकने वाले व्यक्तियों से पहचान पत्र अनिवार्य रूप से लिया जाये। ठहरने वाले व्यक्तियों की सूची प्रतिदिन थाने पर दी जाये।

 

भवन निर्माण एवं अन्य निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों/कारीगरों की सूचना ठेकेदार द्वारा थाने पर दी जावे। पेंईंग गेस्ट की सूचना संबंधित मकान मालिक द्वारा दी जाय । इसके उपरांत ही पेंईंग गेस्ट रखा जाय । ऐसे व्यक्तियों की सूचना जो 15 दिवस से अधिक समय तक निवास कर रहे हो तत्काल थाने पर विहित प्रारूप में दी जाये। उक्त आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत अभियोजन की कार्यवाही की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here