गोलू गली में तो बाबा तलघर में पहुंचे… गुस्ताखी माफ

0
678

नगर भाजपा की नई कार्यकारिणी में जहां गोलू को गली में खड़ा कर दिया तो वहीं बाबा को तल से तलघर में पहुंचा दिया है। वैसे भी बाबा को पार्टी में कोई आंकता नहीं है। इसके पहले एल्डरमैन बनाए जाने के समय भी बाबा के दिए नामों की भोंगली बनाकर वापस दे दी गई थी। अब इस बार नई कार्यकारिणी में अच्छे भले गोलू शुक्ला को नगर मंत्री का पद दे दिया है, जबकि गोलू शुक्ला पुनम महाजन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में सदस्य हैं। ऐसे में उन्हें पदोन्नती के बजाय पदावन्नति मिली है तो बाबा के दो कलदार पट्ठे जो नगर कार्यकारिणी में बाबा का परचम लहराते थे अजीत रघुवंशी और राजेश स्वामी दोनों अब गृहकार्य करेंगे। हालांकि अगले 100 दिनों में किसकी कितनी चलेगी यह तो समय ही बताएगा, पर नए समीकरण में कुछ का फायदा तो होगा ही।

गोपी गुरू के यहां नए भी पहुंचे…
बहुत बहुत कम लोग जानते हैं कि गोपी को क्षेत्र क्रमांक 3 में कई महिलाएं और पुरुष अपने गुरू के रूप में भी मानते हैं। हर साल गुरूपूर्णिमा पर उनका चरण वंदन कर आशीर्वाद लेते हैं और आशीर्वाद लेने वालों में सभी क्षेत्र क्रमांक 3 के होते हैं। यह कार्यक्रम पिछले कई वर्षों से चल रहा है। अब रविवार की शाम को नंदलालपुरा स्थित धर्मशाला में गुरू के पूजन को लेकर पुराने लोग तो जुटे ही, परन्तु इस बीच में कुछ नए चेहरे भी दिखाई देने लगे हैं। इसमें कुछ पार्षद की जुगाड़ में भी है। उन्हें मालूम है कि अब घर का जोगी जोगड़ा नहीं रहा। आन-गांव का सिद्ध हो गया है और परम्परागत पुराने भेरू को छोड़कर नए भेरू की पूजा शुरू करना होगी, ताकि भूत तो बिगड़ा है, भविष्य नहीं बिगड़ जाए।

संतोष गौर की कावड़ पर कृपालु की नजर…
इन दिनों चुनाव की तैयारियों में जुटे कृपालु पर राहु-केतु की नजरे लगने लगी है। इस बार फिर उनके क्षेत्र की एक बड़ी कावड़ यात्रा जिसमें बड़ी तादाद में महिलाएं शामिल होती है आज निकाली जा रही है। हालांकि यह यात्रा उषा ठाकुर द्वारा शुरू की गई थी और अब यह कांवड़ संतोष गौर ने उठा ली है। यह वहीं नेता है जिन्होंने सुदर्शन के खिलाफ लम्बे समय से मोर्चा खोल रखा है और काले झंडे भी दिखा चुके हैं। ऐसे में यह कांवड़ यात्रा आगे क्या गुल खिलाएगी यह तो समय बताएगा, पर यह तो तय है कि इस कांवड़ में आए लोग कृपालु की कांवड़ में हाथ नहीं लगाएंगे। यह कांवड़ यात्रा विद्याधाम से भूतेश्वर पहुंचेगी तो दूसरी बाणेश्वर से निकलकर बड़ागणपति चौराहे पर मिलेगी। देखो भिया इसको अच्छे से समझ लो कि गौर नंदकुमारसिंह चौहान के खास लोगों में भी शामिल हैं और उषा दीदी तो पहले से ही 1 नंबर पर नजर रखे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here