तकनीक के सहारे लीक हर प्रश्नपत्र

0
235

इंदौर 28 मई। पुराने नियम और नई तकनीक भले ही दोनों के बीच कही कोई कडी नहीं हो लेकिन आज कल इनको मिला करवविद्यालय में परीक्षा के एन वक्त पहले सारे पेपर एसएमस के माध्यम से लीक किए जा रहे हैं। विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक इस गोरख धंधे में कुछ टीचर भी शामिल है जो चंद रूपयों के लिए साल भर पढाई करने वाले छात्रो के साथ धोखाधडी कर देते है।
सूत्रों ने बताया कि टीचर प्रश्नपत्र के लिफाफे को तय समय से पहले खोल लेते है और उसी समय अपने मोबाइल की सहायता से उसे तत्काल एसएमएस कर दिया जाता है। सूत्रों ने बताया कि ये सारा काम इतने शातिराना अंदाज से किया जा रहा है कि किसी को कोई शक नहीं होता है। कालेज परिक्षाओ  में 20 मिनिट पहले ही लिफाफा खोलने की अनुमति होती है। बस यही से खेल हो जाते है। कहीं से कोई टीचर आए प्रश्नों को एसएमएस कर देता है। वही छात्रों को आधे घंटे देरी से आने की छूट मिल जाती है। इस तरफ एसएमएस से प्रश्नपत्र पाने वाले छात्र को अंतिम तैयारी के लिए पौन घंटे का समय मिल जाता है। लोकल इंदौर के पास इसी तरह एसएमएस से लीक हुआ प्रश्ननपत्र मौजूद है।
नियम पुराने बन गए हथियार
सूत्रों ने बताया परीक्षा में छात्रों को मोबाइल ले जाना तो मना है लेकिन टीचरों के मोबाइल ले जाने पर कोई मनाही नहीं है। वहीं ये नियम उस जमाने के है। जब मोबाइल नए आए थें और पेजर प्रचलन में थें। इसके बाद से नियमों में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here