पति ने ही 4 लाख मेंअपनी पत्नी को मारने का सौदा किया

0
288

11111लोकल इंदौर 13 मई। 7 मई को दोपहर के समय एहमद नगर क्षेत्र स्थित खुले मैदान में एक बोरी में बंद पड़ी महिला का लाश के मामले का सोमवार को पुलिस ने खुलासा करते हुए उसके पति और उसके पडोस की महिला और उसके बेटे को गिरफ्तार किया है। पति ने ही 4 लाख मेंअपनी पत्नी को मारने का सौदा किया था।

पुलिस के अनुसार मृतिका खुशबू का घटना के पूर्व आखरी फोन सम्पर्क उसके पति भादर पटेल से हुआ था तथा उसके घर के पास ही दुसरी गली में रहने वाली महिला फरीदा बी पति असलम उम्र लगभग 40 वर्ष एवं बेटे आसिफ के साथ महिला मृतिका को आखरी बार देखा गया था । मृतिका के पति भादर पटेल द्वारा उक्त फरीदा बी को लगभग 4 लाख रुपये दिये गये थे जिनका ब्याज वसूली का काम उक्त फरिदा बी के द्वारा किया जाता था । ब्याज के पैसों में से कुछ पैसे फरिदा को भी भादर पटेल के द्वारा दिये जाते थे । फरिदा बी उक्त पैसे एकत्रित कर खुशबू को देती थी तथा खुशबू के माध्यम से रुपये भादर पटेल तक पहूचते थे । मृतिका चुंकि अमुमन घर में अकेली रहती थी । अतः उसके घर में उसके माता पिता आदि का आना जाना था तथा भादर को यह शक था कि खुशबू उसके पैसे जेवरात आदि अपने माता पिता पक्ष को देती रहती हैं । इसी प्रकार चूंकि भादर की खुशबू के अलावा एक पूर्व पत्नि भी थी तथा अन्यत्र एक अफेयर की बात भी जानकारी में आयी थी । खुशबू के माता पिता के द्वारा भी भादर के द्वारा तलाक लेकर छुटकारा पाने एवं यहा तक की इसके लिये रुपये देने तक तैयार होने की बात भी प्रकाश में आयी थी पुलिस द्वारा साक्ष्य संकलन एवं घटना की गहराई तक प्राप्त जानकारी के आधार पर की गई वैज्ञानिक पुछताछ में आरोपी आसिम पिता असलम उम्र 21 वर्ष द्वारा अपराध स्वीकार करते हुवे घटना की जानकारी दी । घटना के अन्य आरोपी फरिदा बी पिता असलम , फैमिदा बी पति जाकिर एवं भादर पटेल की भूमिका भी स्पष्ट हुई ।
हत्या के तीन दिन पूर्व से आसिम एवं फरिदा के द्वारा खुशबू को मारने की योजना तैयार की जा रही थी लेकिन मौका न मिलने से वे सफल नही हुवे थे । 06 मई को भी दिन में खुशबू के घर जाकर उसे मारने का प्रयास था लेकिन मकान मालिक एवं पडौसियों के कारण खुशबू को नही मारा गया । शाम को खुशबू को झांसी जाना था अतः उक्त दिनांक को ही मारना आवश्यक था इसलिये फरिदा ने 15000/-रुपये भादर के देने के नाम पर उसे घर बुलाया । उक्त दिनांक को कमरें में बिठाकर बातचीत के दौरान अचानक लगभग पौने सात बजे मृतिका की गला दबाकर हत्या कर दी गई । उसके बाद चूंकि फरिदा ,फैमिदा एवं असिम के यहा सुपारी काटने का काम होता हैं अतः सुपारी की दो बोरी को जोडकर उसमें लाश भरकर रख दिया गया । असिम द्वारा खबर भादर पटेल तक पहूचाई गई चूंकि पूर्व में भादर के द्वारा ही इन लोगों को खुशबू को मारने एवं रास्ते से हटाने हेतु कहा गया था तथा इसके एवज में चार लाख की उधारी छोडने की बात भी कही गई थी । रात के करीब 1.00 बजे आसिम ने भादर के सहयोग से लाश को घटना स्थल पर ठिकाने लगाया । घटना में मृतिका की चप्पल ,मोबाईल एवं पहने गये जेवरात प्राप्त नही हुवे थे । आरोपीयों से पुछताछ मे वे बरामद किये गये हैं जिनमें सोने का मंगलसुत्र , 6 कान की बाली , बिछीये , पायल , नाक की लोंग आदि शामिल हैं । मृतिका की चप्पलों के साथ लाश फैकने में प्रयुक्त आरोपी का वाहन वर्ना कार भी बरामद कर ली गई हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here