प्रदेश में पहली बार पैरीफेरल वस्क्युलर इंटरवैंशन्स कार्यशाला का आयोजन

0
295

Dr Kailash Patelलोकल इंदौर 20 अप्रेल। श्री अरबिंदो इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस के रेडियोलॉजी विभाग और पीजी इंस्टिट्यूट द्वारा शनिवार को लाइव हैंड्स ऑन प्रोग्राम ऑफ पैरीफेरल वैस्क्युलर इंटरवैशंस वर्कशॉप की शुरूआत हुई। हॉस्पिटल के ओटी में आयोजित इस लाइव वर्कशॉप के दौरान बगैर ऑपरेशन के मरीजों के हाथों-पैरों की रक्त धमनियों में जमे रक्त के थक्कों को हटाने के तमाम तकनीकी पहलुओं की विशेषज्ञों ने बड़ी बारिकी से जानकारी दी। वर्कशॉप में देश के विभिन्न शहरों से आए करीब 40 डॉक्टर्स ने हिस्सा लिया। देर शाम तक जारी रही इस वर्कशॉप में विशेषज्ञों ने करीब 7 मरीजों के केस की लाइव सर्जरी की।
वर्कशॉप की औपचारिक शुरूआत इंस्टिट्यूट के चेयरमेन डॉ. विनोद भंडारी ने दीप प्रज्जवलित कर की। इसके बाद सबसे पहले लेक्चर सेशन हुआ। जिसमें इंटरनेशनल रेडियोलॉजिस्ट डॉ. कैलाश पटेल , डॉ. परेश पार्ई, डॉ. विमल सोमेश्वर और डॉ. गिरीश वारवेडकर ने वर्कशॉप में शामिल डॉक्टर्स को वैसल्स की एंजियोग्रॉफी, एंजियोप्लास्टी के तकनीकी पहलुओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इलाज के दौरान किन खास बातों पर ध्यान देने की जरूरत डॉक्टर्स को होनी चाहिए।

मोहक स्पेशिलिटी अस्पताल अरबिंदो मेडिकल कॉलेज के कन्वीनर डॉ. कैलाश पटेल ने अपने लेक्चर के दौरान बताया कि इलाज के सही तरीके को अपनाना मरीज और डॉक्टर्स दोनों के लिए ही बेहतर है। खुन को गाढ़ा नहीं होने देना चाहिए, और इसलिए पेशेंट्स को ब्लड थीन की एंटीप्लेटलेट्स दवाईयां देते हैं।
इस दो दिनी वर्कशॉप का समापन रविवार को होगा। विशेषज्ञ डॉक्टर्स लैब में लाइव टिशू और सिम्यूलेटर पर हैंड्स ऑन प्रेक्टिस करेंगे। वर्कशॉप सुबह ९ बजे से शुरू होगी। जिसमें विभिन्न सत्रों में रात ८ बजे तक कार्यशाला आयोजित होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here