फर्जी दस्तावेज के सहारे जमीन बेचने के मामले में 5गिरफ्तार

0
231
इंदौर 5 मई । इंदौर पुलिस ने आज फर्जी दस्तावेज के सहारे जमीन बेचने के मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया तथा दो लोगों की तलाश जारी है ।

देवी अहिल्या एज्युकेशनल ट्रस्ट के सचिव के.एस. राठौर द्वारा पुलिस महानिरीक्षक को इस आशय की शिकायत की गई थी कि उनके ट्रस्ट के खसरा नंबर 92 की ग्राम पिपलियाराव स्थित लगभग 3900 स्क्वेयर फीट जमीन को किन्ही अज्ञात लोगों ने फर्जी लीज डीड बनाकर उसे बेचा जा रहा हैं।
इस शिकायत की जॉच सही पाए जाने पर आरोपी 1. मनोज 2. विशाल 3. अरूण, 4. सुनील 5. हेमंत  को  गिरफ्तार किया गया । पुलिस ने बताया कि आरोपी मनोज पिता मंसाराम 23 साल नि0 विष्णुपुरी इन्दौर जो कि विगत 25 साल पर उपरोक्त जमीन पर अपने टापरे बनाकर परिवार सहित रह रहा था उसने अपने दोस्त हेमन्त पिता सुरेश पारी नि0 459 कुलकर्णी के साथ  एक वकील विशाल पिता शिवराम बघेल 105 ब्रहमबाग कालोनी से संपर्क किया व उसे उपरोक्त जमीन के फर्जी कागज बनाने हेतु कहा । विशाल बघेल द्वारा इस कार्य हेतु 30 हजार रूपये की मांग की तथा कहा कि इस जमीन के मालिक बनने हेतु किसी बुजुर्ग आदमी का नाम  बताओं।इस पर हेमंत द्वारा अरूण पिता अर्जुन पटेल नि0 52/2 नेहरू नगर इन्दौर  एवं सुनील पिता लक्ष्मण 30 साल नि0 82 काजी की चाल इन्दौर को इस कार्य हेतु तैयार किया। अरूण व सुनील द्वारा जमीन का मालिक बनने हेतु श्यामलाल पिता प्रभू कोरी 90 साल  गोमा की फैल से संपर्क किया  व श्यामलाल को रूपये का लालच देकर जमीन का मालिक बनने हेतु  तैयार किया एवं विशाल बघेल को रू0 30 हजार फर्जी दस्तावेज बनाने हेतु दिये गये। इन रूपयों में 10,000-10,000 रू0 मनोज व हेमंत ने तथा 5000-5000 रू0 अरूण व सुनील ने दिये। इस पर विशाल बघेल द्वारा फर्जी लीज डीड व फर्जी रसीदें उक्त जमीन की राकेश भावसार एडवोकेट से बनवाकर फर्जी सील व फर्जी हस्ताक्षर कर हेमंत को दिया। ततपश्चात इन सभी लोगों ने उक्त जमीन को रूपये 20 लाख 51 हजार में सुरेन्दर कौर नि0 174 एम खातीवाला टैंक इन्दौर को बेचकर रू0 50 हजार बयाना के रूप में लिये व इन रूपयों को सभी आरोपियों ने आपस में बांट लिये। आरोपी राकेश भावसार एडवोकेट एवं श्यामलाल की तलाश की जा रही हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here