बखतगढ़ भगोरिया के पल …. मस्ती के संग

0
2958

लोकल इंदौर . मालवा के अंचल में भगोरिया का पर्व अपने धूम पर है . बखतगढ़ से अखिल हार्डिया जी के फोटो के साथ अन्य जगह के भी चित्र आपके लिए …………………………बखतगढ़ के भगोरिया हाट में दो राज्यों की मिश्रीत सांस्कृतिक छटा महकते हुए देखी गई। गुजरात राज्य के नवालझा, रेणदा, कवांट आदि स्थानों से आई ग्रामीण युवतियों ने पर्व की छटा का रंग बिखेरा। मथवाढ़ क्षेत्र व नर्मदा पार महाराष्ट्र के राज्य से भी कुछ आदिवासी परिवार पर्व की रंगत देखने के लिए शामिल हुए। ढोल-मांदल व कुर्राटियों की गूंज से माहौल सराबोर नजर आया तो वहीं दूसरी ओर आम्बुआ में भगोरिया हाट सामान्य-सा रहा। ़आिधुनिकता की झलक़भिगोरिया त्योहार में खाने-पीने से लगाकर परिवेश तक में आधुनिकता की झलक स्पष्ट नजर आ रही थी। पुराने चांदी के आभूषणों की जगह अब फैंसी आभूषणों ने स्थान ले लिया है। पारंपरिक आदिवासी परिधानों के स्थान पर आदिवासी युवकों ने जींस-टी शर्ट पहन रखे थे। अनेक पढ़ी-लिखी आदिवासी नवयौेवनाएं भी सलवार-कमीज व साड़ी पहने दिखीं। दूसरी ओर खाने-पीने की वस्तुओं में भी खासा बदलाव आ गया है। शर्बत के स्थान पर अन्य शीतल पेय ने ले लिया है। हार-कांगनी, माजम व गुलाल भगोरिया से लगभग गायब-सी हो गई है। उसके स्थान पर मावे की मिठाइयों की बिक्री बढ़ गई है। कुल्फी व बर्फ के गोलों के ठेलौं पर भी अनेक युवक-युवतियां आनंद लेते दिखे।IMG_20140311_192658IMG_20140311_193038IMG_20140311_193403jhabua_11_feb._photo-02003001

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here