बैंक में करोड़ो का गबन करने वाला केशियर.. इंदौर में बन गया डिलीवरी बॉय .. पकड़ाया

0
818

लोकल इंदौर 12 जनवरी। इंदौर क्राइम ब्रांच ने एक साल पहले करोड़ों की ठगी करने वाले एक शातिर को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। ये शातिर HDFC बैंक में कैशियर था और एक साल पहले उसने 1 करोड़ 28 लाख रुपए का गबन कर फरार हो गया था। पुलिस को चकमा देने के लिए ये शातिर बीते एक साल से जोमेटो फूड कंपनी में डिलीवरी बॉय बनकर घूम रहा था। आरोपी पर 10 हजार का ईनाम भी था।

इंदौर क्राइम ब्रांच एएसपी अमरेन्द्र सिंह ने बताया कि साइबर अपराधों की जांच के दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि धार में HDFC बैंक में करीब एक साल पहले हुए एक करोड़ 28 लाख रुपए के गबन का आरोपी अंकित घाटे (28 वर्ष) इंदौर के राज मोहल्ला क्षेत्र में देखा गया है। इस पर पुलिस टीम ने जांच शुरू की तो पता चला कि अंकित अपना नाम बदलकर जोमेटो फूड कंपनी में डिलीवरी बॉय बनकर फरारी काट रहा है।

जांच के दौरान पुलिस को ये भी पता चला कि आरोपी फरारी के दौरान इंदौर, के अलावा खंडवा, देवास और उज्जैन में भी रहा। वर्तमान में वो इंदौर में जोमेटो फूड डिलीवरी कंपनी में पहचान छुपाते हुए नाम बदलकर नौकरी कर रहा था। इस पर पुलिस ने अंकित को हिरासत में ले लिया।

पूछताछ में अंकित ने गबन करना स्वीकार किया और बताया कि वह धार का रहने वाला है और BE कंप्यूटर साइंस से ग्रेजुएट है। आरोपी ने इंजीनियरिंग करने के बाद आईटी कंपनी में नौकरी की तलाश की किंतु सफलता ना मिलने के कारण उसने HDFC बैंक जिला धार में नौकरी करना शुरु की। यहां उसका मासिक वेतन 19 हजार रुपए था तथा वह कैशियर के पद पर नियुक्त था। उसने बताया कि बैंक की शाखा में दिन भर में पैसो का पूरा लेनदेन उसी की देखरेख में होता था और शाम को वही पूरा हिसाब बनाकर कैश बैंक के लॉकर में जमा करता था।

वारदात के तरीके के बारे में पूछे जाने पर आरोपी अंकित ने खुलासा किया कि वह ग्राहक द्वारा जमा की जाने वाली राशि की कंप्यूटर में एंट्री करते समय संपूर्ण रकम की राशि को लिखकर उसमें प्रारूप अनुसार दर्शाए नोटों की संख्या को कम लिखता था। जैसे किसी ने 1 लाख रुपए जमा कराए और उसमें 500 रुपए के 200 नोट हैं तो आरोपी अंकित उसमें से 8 नोट निकाल लेता था। जब कंप्यूटर में एंट्री करना होती थी तब 500 रुपए के 192 नोट लिख देता तथा लेकिन कुल राशि 1 लाख ही लिखता था। ऐसे दिनभर में कई खातों के लेनदेन मे वह नोट चुरा लेता था और राशि का गबन करता था।

पूछताछ में आरोपी अंकित ने बताया कि वो पिछले 3 महीनों से इंदौर में तुषार नाम से फूड डिलीवरी बॉय बनकर फरारी काट रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here