महिलाओ के प्रति नजरिये में बदलाव जरुरी -साईं मनोहर

0
279

bलोकल इंदौर २२ सितम्बर।.  देश में लिंगानुपात में हो रही कमी के मद्देनजर  महिलाओ के प्रति लोगो के  नजरिये में बदलाव के साथ उनके समग्र विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देनी होगी ।

ये विचार  शनिवार को इंदौर में राष्ट्रीय जन सहयोग एवं बाल विकास संस्थान द्वारा लिंग भेद विषय पर आयोजित कार्यशाला में इन्दौर के पुलिस उप महानिरीक्षक श्री साईं मनोहर ने व्यक्त किये ।उन्होंने मध्यप्रदेश  में लिंगानुपात की  तुलनात्मक जानकारी देते हुए बताया कि सन 1901 से 2001 तक लिंगानुपात में कमी आई  लेकिन सन 2011 की जनगणना में थोड़ी वृद्धि हुई है । यह आशाजनक बात है ।उन्होंने कहा कि बालिकाओ के समग्र विकास के लिए अनेक योजनाये चलाई जा रही है और इसके सार्थक परिणाम भी दिखाई दे रहे है . श्री साईं मनोहर ने कहा कि लिंग परीक्षण और भ्रूण हत्या पर कड़ाई से रोक लगाने के साथ कन्या के प्रति लोगो की मानसिकता में भी परिवर्तन लाना होगा तथा बालिकाओ के लालन पालन , शिक्षा, स्वास्थ्य और समान अवसर मिलने चाहिए । इस अवसर पर मध्य प्रदेश राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष डा सविता इनामदार ने कहा कि समाज में महिलाओ को पुरुष के बराबर हक़ मिलना चाहिए . उन्होंने महिला सशक्तिकरण के लिए किये जा रहे  प्रयासों की विस्तार से  जानकारी दी . कार्यशाला  के तकनीकी सत्र में  उप महानिरीक्षक श्री साईं  मनोहर, डा इनामदार, रचना जौहरी, मधुकर पवार, श्री सुनील तिवारी, श्रीमती जनक पलटा और प्रो आर डी मौर्य ने भी संबोधित किया. कार्यक्रम के आरंभ में  राष्ट्रीय जन सहयोग एवं बाल विकास संस्थान के निदेशक डा पी कृष्णामूर्ति ने स्वागत भाषण दिया . संस्थान के ही डा जार्ज ने कार्यशाला के आयोजन के उद्देश्य की जानकारी दी. संचालन उप निदेशक श्री टी डुंग डुंग ने किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here