मार्च 14 के पहले आम चुनाव नही ,मुलायम और कांग्रेस में कोई मन मुटाव नहीं–सूचना मंत्री

0
246

907759_622289837786555_741427972_n लोकल इंदौर 29 मार्च। केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने आज कहा कि यूपीए सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी और देश मार्च 2014 के पहले आम चुनाव नही होगें।

आज इंदौर में प्रेस क्लब द्वारा आयोजित सार्क देशों के भाषाई पत्रकारिता महोत्सव का शुभारंभ करने आए श्री तिवारी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव और यूपीए के किसी भी घटक दल के बीच कोई मन मुटाव नहीं है। यदि कोई मतभेद है तो आपस में बैठक कर आदर और आदब से उसे सुलझा लिया जायेगा। आम चुनाव 2014 में ही होगे। इस देश की जनता अस्थिरता पसन्द नहीं करती। जो लोग अस्थिरता पैदा करने में लगे है। उन्हें आम चुनाव में जनता जवाब देगी।उनके बन्द गले के शूट और शेरवानी अलमारियों में ही रखी रह जायेगी।
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा सपा के साथ कांग्रेस के बिगडते रिश्ते और मुलायम सिंह के द्वारा नवम्बर में आम चुनाव होने की बात कहे जाने उन्होने कहा कि केन्द्र की यूपीए सरकार अपना कार्यकाल पुरा करेगी।सरकार का पूरा ध्यान देश के आर्थिक विकास और राइट टू फुड पर है।
उन्होने कहा कि कांग्रेस अपने घटक दल और सपा प्रमुख मुलायम सिंह की इज्जत करती है। गठबन्धन सरकार के बारें में कहा कि देश पिछले 20 सालों से इस दौर को देख रहा है।कांग्रेस गठबन्धन का धर्म निभाना जानती है। 2004 में जब कांग्रेस नीत की गठबन्धन सरकार आई थी तो विपक्षी दल अटकले लग रहे थे कि यह सरकार 6 माह में चली जायेगी। फिर कहा की 9 माह में चली जायेगी। आज 2004 से 2013 हो गया है।कांग्रेस को गठबन्धन सरकार चलना आता है।
क्या राहुल होगे कांग्रेस के अगले प्रधानमंत्री
के सवाल पर मनीष तिवारी ने कहा कि राहुल गाँधी कई बार अपना पक्ष सामने रख चुके है।साथ ही साथ यह भी वास्तविकता है कि इस देश के लाखों कांग्रेसी कार्यकर्ता और नेता तथा ऐसे हजारो नौजवान जो कांग्रेस से सहनभूति रखते है वे राहुल गाँधी को और व्यापक रोल में देखना चाहते है।इसी भावना को देखते हुए राहुल गाँधी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बने। किंतु अभी 2013 है। चुनाव 2014 में है। इसलिए यह कहना कि राहुल गाँधी प्रधानमंत्री होगे से ज्यादा महत्वपूर्ण कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के लिए यह है कि जिसे जो काम नेतृत्व ने सौंपा है उसे जिम्मेदारी पूर्वक निभाये।
वही भाजपा पर उंगली उठते हुए कहा कि बार बार सवाल उठाया जाता है कि कांग्रेस अगला चुनाव किसके नेतृत्व में लडेगी। भाजपा से पूछा जाये कि क्या गुजरात के मुख्यमंत्री को किसी पद का दावेदार बनाया है की नहीं ? यह इसलिए कहा रहा हूँ कि गुजरात की मुख्यमंत्री को लेकर भाजपा में अटकलें लगती रहती है। फिर मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री का ट्वीट आ जाता है। इसलिए भाजपा का जो अंतरविरोध है वो उसको तय कर लें। फिर हम जवाब देगें। 2004 में बाजपेयी और 2009 में आडवानी को आगे रख चुनाव लडने वाली भाजपा 2014 में किसे आगे कर चुनाव लडेगी?

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here