हिन्दी के गौरव को पुर्नस्थापित किया जायेगा– शिवराज

0
318

लोकल इंदौर 30 जून ।  मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में हिन्दी के गौरव को पुर्नस्थापित किया जायेगा । प्रदेश में हिन्दी के विकास के लिये ऐसे प्रयास किये जायेंगे, जो  अन्य राज्यों के लिये उदाहरण बनें।

श्री चौहान  ने आज इंदौर में स्वर्गीय श्री जगदीश प्रसाद वैदिक की श्रद्घांजलि सभा  को सम्बोधित करते हुये कहा कि  वैदिकजी  हिन्दी के सबसे बड़े पैरोकार थे। हिन्दी के प्रति उनका अटूट प्रेम था । वे ज्ञान, भक्ति एवं कर्म मार्ग के त्रिवेणी संगम थे। उनके द्वारा स्थापित  आदर्शों पर चलना उनके प्रति सच्ची श्रद्घांजलि है ।

मुख्यमंत्री ने कहाकि  प्रदेश में हिन्दी विह्णाविद्यालय स्थापित करने का फैसला लिया गया है । प्रदेश में यह प्रयास किया जायेगा कि सभी तरह की पढ़ाई हिन्दी भाषा में भी हो । जब चीन, कोरिया एवं जापान जैसे समृद्घ राष्ट्र  अपनी राष्ट्रभाषा को महत्व दे सकते हैं, तो हम  अपनी राष्ट्रभाषा को क्यों नहीं महत्व दे सकते हैं।

श्रद्घांजलि सभा में बाबा रामदेव ने श्री वैदिक के प्रति श्रद्घांजलि व्यक्त करते हुये कहा कि उनके आदर्श एवं विचारधारा हमेशा हमारे साथ रहेंगे। उनके वैदिक विचारों, संस्कारों की परम्परा को जीवित रखा जायेगा । उन्होंने कहा कि वैदिक विचार, संस्कार एवं भावना को प्रमाणिकता के साथ श्री वैदिक ने जिया है ।

मध्यप्रदेश में आर्य समाज एवं हिन्दी आंदोलन के सूत्रधार, मध्यभारत में जनसंघ के संस्थापक तथा समाज सुधारक श्री जगदीश प्रसाद वैदिक के गत २४ जून को ब्रम्हलीन हो जाने पर आ ज इंदौर के गांधी हॉल में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के मुख्य  आ तिथ्य में सर्वदलीय एवं सर्वधर्म श्रृद्घांजलि सभा  आयोजित की गयी । सभा में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय, स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री महेन्द्र हार्डिया, बाबा रामदेव,श्री नारायण स्वामी, खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के  ध्यक्ष श्री सत्यनारायण सत्तन, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सत्यनारायण जटिया, श्री चेतन कश्यप, श्री संजय जोशी, महापौर श्री कृष्णमुरारी मोघे, विधायक  श्री सुदर्शन गुप्ता एवं श्री जीतू जिराती, भाजपा के नगर  अ ध्यक्ष श्री शंकर लालवानी, शहर कांग्रेस  अ ध्यक्ष श्री प्रमोद टण्डन, इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व अ  ध्यक्ष श्री कृपाशंकर शुक्ला सहित  अ न्य जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधि मौजूद थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here