रशियन हैकर्स की वेबसाइट से डाटा लेकर ऑनलाइन ठगी करने वाले 2 आरोपी इंदौर में गिरफ्तार

0
175

लोकल इंदौर।रशियन हैकर की वेबसाईट से क्रेडिटकार्ड का ऑनलाईन डाटा खरीदकर जनता व बैंको को लाखो रुपये की चपत लगाने वाले आरोपीगण को  राज्य सायबर सेल इन्दौर ने गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक, राज्य सायबर सेल इन्दौर जितेन्द्र सिंह ने बताया दिनांक 09-12-19 को शिकायतकर्ता अनूप कुमार तिवारी पिता श्री शिवकुमार तिवारी निवासी N-4 श्रीजी वैली, बिचोली मर्दाना इंदौर द्वारा एक लिखित आवेदन दिया कि दिनांक 09-12-19 को सुबह 06:13 बजे मेरे HDFC क्रेडिट कार्ड से बिना मेरी जानकारी व कोई OTP शेयर किये कुल रूपए 21188.60/- रूपए का फ्रॉड ट्रांसेक्शन हो गया है।उक्त रुपयो का प्रयोग फेसबुक पर विज्ञापन प्रसारित करने के लिये किया था। जिसे शिकायत क्रमांक 444/19 पर दर्ज किया गया |

अनुसंधान के दौरान आये तथ्यो व सायबर सेल जोन इंदौर की टीम (निरी. राशिद अहमद, उनि. पूजा मुवेल, उनि. आमोदसिंह राठौर व आरक्षक गजेन्द्र सिंह राठौर, विवेक मिश्रा, आशीष शुक्ला) द्वारा किये गये ग्राउंड वर्क व सायबर सर्विलांस के अनुसार पाया गया कि उक्त ट्रांजेक्शन Roaring Wolf Media Pvt. Ltd. के कर्मचारियो द्वारा किया गया है।आरोपी चिराग(उम्र 26 साल )उक्त कंपनी में को फाउंडर व सीईओ है।और आरोपी मूकुल(उम्र 19 साल) उक्त कंपनी में सीजीओ (चीफ ग्रोथ ऑफिसर) है।

 आरोपीगण को फरियादी के कार्ड का डेटा अंडरग्राउंड ऑनलाईन साइट्स से मिला।आरोपीगण क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा बिटकॉइन का प्रयोग कर खरीदते है। वहां ऑनलाईन लाखो लोगो के क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा बिक रहा है
आरोपियो के पास से उनके द्वारा खरीदा गया लगभग 700 क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा जब्त किया गया है ।
चूंकि आरोपियो द्वारा उक्त डेटा का प्रयोग अनऑथोराईज्ड ट्रांजेक्शन (बिना OTP) किया गया गया है, जहाँ यदि पीडित समय पर बैंक में शिकायत करें तो बैंक पीड़ित को पूरा पैसा रिफंड करना होता है, इस तरह आरोपियो ने जनता के साथ साथ बैंको को भी लाखो रुपयो का चूना लगाया है,
आरोपी चिराग,  ने कम्युटर इजीनियरिंग से पोलिटेक्नीक डिप्लोमा किया हुआ है।
आरोपी मुकूल ने इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग से पोलेटेक्निक डिप्लोमा की अधुरी पढ़ाई की है। (पोलिटेक्नीक डिप्लोमा ड्रॉप आउट है)आरोपीगण Tech. freak होकर बचपन से ही नई तकनीको को सीखने के लिये लालायित रहते है।आरोपियो के बताये अनुसार आरोपियो द्वारा घटना में प्रयुक्त दो लैपटॉप, दो आईफोन व आरोपीगण द्वारा खरीदा गया क्रेडिट/डेबिट कार्ड का डेटा को विधिवत जब्त किया गया है।
   उक्त अनुसंधान मे निरीक्षक. राशिद अहमद, उनि. पूजा मूवेल, उनि. आमोद सिंह राठौर, उनि. रीना चौहान, उनि. विनोद सिंह राठौर, प्रधान आरक्षक मनोज राठौर, आरक्षक गजेन्द्र राठौर, आरक्षक विजय बड़ोदकर, आरक्षक विवेक मिश्रा, आरक्षक विशाल महाजन, आरक्षक आशीष शुक्ला, आरक्षक रमेश भिड़े, आरक्षक राहुल सिंह गौर, आरक्षक चालक दिनेश महिला आरक्षक दीपिका, महिला आरक्षक विनीता की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here