आदिवासियों पर आधुनिकता रंग, चरम पर पहुंचा भगोरिया का उल्लास

0
734

 

लोकल इंदौर 2 मार्च। मालवा के आदिवासी इलाकों में पलास और टेसू के दहकते फूलों के बीच आदिवासियों का अपना पर्व भगोरिया इन दिनों शबाब पर है। एक जैैसे परिधान में सजे युवक युवतियां इन दिनों लगने वाले हाट मेलों में मस्ती करते देखे जा रहे है। चांदी के गहनों से लदी युवतियां व महिलाएं अपने सौन्दर्य भाव को परिलक्षित कर रही हैै। छतकला, अलीराजपुर के भगोरिया हाट में मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन निगम के द्वारा आयोजित भम्रण टूर में लोकलइंदौर संवाददाता ने पाया कि आदिवासियों का यह पर्व भी अब आधुनिकताओं से अछूता नहीं रह गया । मोबाइल फोन और जिंस एंव रंगीन चश्मों ने इन अंचलों की पारंपरकिता को बदल दिया है। वही शहर की भाग दौड से दूर इस ठेठ ग्रामीण इलाकों में भगोरिया के उल्लास में हिस्सा लेने के लिए बडी संख्या में पर्यटक भी आए है।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here