सावधान… इंस्टाल करते ही ब्लैकमेल करते हैं फर्जी लोन एप, इंदौर क्राइम ब्रांच ने जारी की 50 एप की सूची

कई बार व्यक्ति लोन ही नहीं लेता और ठग वसूली के लिए परेशान करना शुरू कर देते हैं।

0
645

लोकल इंदौर l आपभी यदि लोन  लेने के लिए  अपने मोबाईल के भरोसे है और कोई  एप डाउन लोड कर्र्हेहाई तो सावधान हो जाईये l इंदौर पुलिस ने ऐसे ही एप की सूचि जारी की है जो लोगो  को ठगती है

डीसीपी (अपराध) निमिष अग्रवाल के मुताबिक ज्यादातर शिकायतें नौकरी की तलाश में आए युवक-युवतियों और छात्र-छात्राओं से मिली हैं। अखबारों और इंटरनेट मीडिया पर विज्ञापन देख लोग इनके झांसे में आ जाते हैं। कॉल सेंटर में काम करने वाले ठग एप इंस्टाल करवाकर कांटैक्ट और गैलरी एक्सेस अलाऊ करवाते हैं। कई बार व्यक्ति लोन ही नहीं लेता और ठग वसूली के लिए परेशान करना शुरू कर देते हैं। कांटैक्ट लिस्ट उसके पास चली जाने से वे रिश्तेदार, परिचित और स्वजन को कॉल करना शुरू कर देते हैं। डीसीपी के मुताबिक कुछ युवतियों ने तो यह भी बताया कि ठग अश्लील फोटो-वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल रहा था।

मंत्री सिलावट की विधानसभा में पंचायत के ऑफिस पर टांगी जूतों की माला  

इन लोन एप से सावधान रहें

स्टार लोन, मेट्रो फाइनेंस, स्टेशफिन, कैश होस्ट, गोल्ड कैश, मोबाइल कैश, ईजी क्रेडिट, मनी ट्री, लोन फार्चून, रूपी स्मार्ट, जो-जो कैश, कैश पार्क, लाइव कैश, सन कैश, इनकम, यूनिट कैश, ब्राइट कैश, मैजिक मनी, सन्नाीएप, रायल कैश, शार्पकॉम, मार्बल, मोबिक्विक, वाइस लोन, फार्चून लोन, कैशफिश, लोनएप, रूपीबस, रुपीस बस, रुपीस लैंड, रिच कैश, अपना पैसा, गोल्डमैन प्लस, हाय रुपी, हैंडी लोन, आसान लोन, रुपी फंटा, मनी पाकेट, एमपी पाकेट, एक्सप्रेस लोन, हू कैश, लोन ड्रीम, एंपल कैश, कैशकोला, फास्ट रुपी, रुपी इस्लाम, मनी म्यूचल, कैश कॉउ, राइस कैश, वन लोन, लोनएप, क्वालिटी कैश, समय लोन, रुपी कैश, पब कैश, स्माल कैश, बास्केट लोन, मनी लोडर, ब्राइट मनी, कैश मैजिक, ईजीआरपी, गुरुएप, कैशहोले, पैसेवाला एप, राकेट लोन, ईजी ब्रोवो, मनी स्टैंड, क्रेजी कैश, गोल्ड लोन एप, कौश गो एप, फनी हैप्पन, इंडिया एआइ क्रेडिट, कैश एडवांस लोन, रुपया कंपनी, ओरेंज, स्माल लोन, फ्लिप कैश, क्विक लोन, आइसी क्रेडिट, जेस्ट मनी, बेलोन, कैश मास्टर, एजी लोन, रुपी आनलाइन, ओबी कैश, रिलायबल रुपी, कोको, कैशपाल, फास्ट कैश, मनी बाक्स, मंडे लोन, मोर कैश। डीसीपी के मुताबिक इन एप के विरुद्ध शिकायतें मिली हैं। क्राइम ब्रांच इनके विरुद्ध जांच कर रही है। क्राइम ब्रांच ने कहा है कि इनमें से किसी भी एप को इंस्टाल न करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here