एक करोड़ के लड्डुओं का हिसाब लाए…गुस्ताखी माफ में नवनीत शुक्ला

0
230
पेलवान द्वारा सांवेर में शुद्ध घी के पांच लाख लड्डू बांटने का ऐलान करने के बाद भाजपा के सांवेर के ही पूर्व विधायक ने बताया कि यह पैसा तुलसी सिलावट महाराज अपनी जेब से खर्च कर रहे हैं, इसका भाजपा से कोई लेना-देना नहीं है। भाजपा केवल लड्डू बंटवाने में सहयोग करने जा रही है। इधर इस मामले को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूरा हिसाब जोड़कर एक करोड़ चार लाख रुपए का खर्च बताते हुए चुनाव आयोग को बकायदा इसकी शिकायत करते हुए यह राशि चुनाव खर्च में जोड़ने की अपील पत्र लिखकर की है। गणित ऐसा बताया गया है कि एक किलो शुद्ध घी के लड्डू चार सौ रुपए में बनते हैं। एक किलो में बीस लड्डू चढ़ेंगे, यानी पांच लाख लड्डू के लिए छब्बीस हजार किलो वजन बनेगा। इसकी कीमत एक करोड़ चार लाख रुपए आंकी गई है। कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह ने दावा किया है कि यह पैसा उन्हें कांग्रेस से भाजपा में कूदने के लिए मिला था। अभी भी उन्नीस करोड़ का हिसाब आना बाकी है। एक बात और समझ में नहीं आ रही कि ऐसी क्या बात सांवेर में है कि सारे लड्डू वहीं जा रहे हैं। पेलवान तो इंदौर जिले के भी प्रभारी हैं। यहां के भाजपा कार्यकर्ता क्या लड्डू के लायक नहीं हैं। इस मामले में जब एक भाजपा नेता से पूछा गया तो उन्होंने कहा लड्डू की छोड़ो, अभी तो गधे गुलाब जामुन खा रहे हैं।
भिया की जड़ों में दही डालने में जुटे….
इधर इंदौरी भाजपा नेता राखी के एक दिन पूर्व इतवार को बाजार खुलवाने के लिए अपना-अपना मांझा सूत रहे थे और इस पूरे मामले की लीड लेने के लिए प्रयासरत थे, इस बीच भिया ने बिना मैदान में उतरे ही शानदार छक्का जड़ दिया। उन्होंने बाहर की बाहर अंपायर से बात कर एकतरफा फैसला करवा दिया। इंदौर में इतवार के दिन कर्फ्यू नहीं रहेगा। इसे कहते हैं समय पर छक्का लगाना। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है। इसके पहले भी जब बाजार खोलने का मामला था, तब भी उन्होंने बिना बैठक ही फैसला करवा दिया था। यह मामला इन दिनों भाजपा के फैसले लेने वाले नेताओं को हजम नहीं हो रहा था। उन्होंने अपने स्तर पर एक दांव खेला इंदौर हॉटस्पॉट शहरों में शामिल है अत: फैसले मनचाहे नहीं होंगे। इसमें इंदौरी सांसद भी शामिल है। कुछ नेता इन दिनों भिया के फैसलों पर कहा से दही डाला जा सकता है इसी में व्यस्त है।
सुंदर छोड़ किशोर कांड में व्यस्त थी….
जब कल पूरे देश में राममय माहौल होने के बाद मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी अपने कार्यकर्ताओं से राम मंदिर निर्माण को लेकर सुंदरकांड का पाठ और अन्य आयोजन किए जाने की कार्यकर्ताओं से अपील की थी। पूरे शहर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अलग-अलग जगहों पर ये आयोजन किए तो वहीं कांग्रेस नेत्री अर्चना जायसवाल क्रिश्चियन कॉलेज में किशोर कुमार का जन्मदिन मनाने में व्यस्त रहीं। कुछ नेताओं ने शिकायत की कि वे प्रभारी होने के बाद भी शहर में एक जगह भी रामकथा या सुंदरकांड जैसा कोई आयोजन नहीं कर सकीं।
लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here