इंदौर में छात्रा से गैंग रेप का मामला झूठा निकला: युवक को फंसाने की लिए खुद रची थी कहानी

0
672

लोकल इंदौर 21 जनवरी इंदौर में छात्रा का अपहरण कर  पांच लोगों द्वारा  सामूहिक  दुष्कर्म करने  का मामला पूरी तरह से पुलिस जांच में फर्जी पाया गया। अपने साथ सामूहिक दुष्कर्म का आरोप  लगाने वाली इस छात्रा ने पुलिस अधिकारियों के समक्ष मान लिया  कि उसने एक युवक को फंसाने के लिये यह साजिश रची थी। अब पुलिस सबूतों औऱ मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर इस केस को खारिज करने और युवती के खिलाफ झूठी शिकायत  और साजिश रचने की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज करेगी।

जानकारी के  पुलिस अधिकारियों ने छात्रा के अनुसार बताए घटनाक्रम को रीक्रिएशन किया और उस घटनाक्रम को सही साबित नहीं कर पाए ।इस दौरान छात्रा के बयानों में अनेक बार विरोधाभास भी पाया गया ।जिस अक्षय गुप्ता पर उसनेअपहरण का आरोप लगाया था वह घर में टीवी देखता हुआ पाया गया। मेडिकल रिपोर्ट में भी गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई और छात्रा के शरीर पर जो घाव पाए गए वह चाकू के नहीं बल्कि self-injury बताई गई जो उसने कटर से किये थे। इतना ही नहीं छात्रा के कपड़ों पर बोरों के कोई रेशे तक नहीं पाएं गये। ना ही बोरे में छात्रा का बाल मिला।छात्रा  का कहना था कि वह एक पुराने मामले में रेल पटरी पर आत्महत्या करने गई थी लेकिन तभी उसका विचार बदला और उसने प्लानिंग कर यह राज साजिश रची। छात्रा  पहले भी छेड़छाड़ के मामले में 2 केस दर्ज करा चुकी है।एक मामले में आरोपी जेल में है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here