एक दिन में 75 करोड़ धुए में उड़ा रहे इन्दौरी……80 रु की एक सिगरेट

0
956

लोकल इन्दौर २५ जून ।(नवनीत शुक्ला ) इन्दौर में सस्ते से महंगा नशा बड़ी आसानी से मिल रहा है। अफीम, गांजा, चरस तो आम बात हो गई है। इन्दौर में कोकिंन, स्मेक से लगाकर सभी महंगी नशीली दवाईयां भी लोगों को उपलब्ध हो रही है। यही नहीं अवैध शराब शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी मात्रा में बिक रही है, लेकिन आबकारी विभाग खानापूर्ति करने के लिए एक-दो लोगों पर ही कार्रवाई कर प्रकण बनाने में लगा हुआ है।
नशे के कारोबार से जुड़े लोगों का कहना है कि  अब चरस, गांजा व अफीम आम बात हो गई है। धीरे-धीरे स्मेक, कोकिन, हेरोईन, की मांग बढऩे लगी है। यही नहीं युवाओं में खासतौर पर नाइट्रोवेट व व्हाईटनर का नशा करने की मांग भी धीरे-धीरे बढऩे लगी है। यह नशा उन्हें बड़ी आसानी से मिल जाता है। इन्दौर में एक दिन में में करीब 20 से 30 करोड़ रुपए का व्यवसाय सिगरेट के कारोबार से होता है। युवाओं में सिगरेट का चलन धीरे-धीरे बढ़ता चला जा रहा है। इसीलिए एक सिगरेट का दाम 80 रुपए है, जिसमें देशी-विदेशी दोनों सिगरेट शामिल है। यही नहीं इन्दौर में करीब 500 से 700 सिगरेट प्रतिदिन बिक रही है  दिनो दिन नशे के कारोबार में इन्दौर प्रदेश में सबसे अव्वल होता जा रहा है, जहां बाहर से आने वाले छात्र-छात्राओं को भी नशे की लत ने घेर लिया है।
नशे के कारण ही बड़े अपराध
पिछले तीन से चार सालों में नशे का कारोबार इतना बढ़ गया है कि नशे की लत लगने के बाद पैसा खत्म होने पर नशेड़ी अपराध की ओर रुख कर रहे है। यही वजह है कि इन्दौर में लूट-डकैती से लगाकर हत्या के मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे है। इसमें कराए गए सर्वे से यह जानकारी मिली है कि सबसे ज्यादा अपराध नशे में ही अपराधियों द्वारा किए जा रहे है। इनमें नाइट्रावेट, कोकिन व हेरोईन के अलावा व्हाईटनर का नशा भी शामिल है।
80 रुपए की सिगरेट
भागीरथपुरा, बम्बई बाजार, चंदन नगर, राजमोहल्ला, साऊथ तोड़ा, नार्थतोड़ा, सरवटे बस स्टैण्ड, राज नगर, छोटा बांगड़दा आदि क्षेत्रों में देशी-विदेशी सिगरेट आसानी से नशेडिय़ों को मिल रही है।एक सिगरेट का दाम 80 रुपए है, जिसमें देशी-विदेशी दोनों सिगरेट शामिल है।
कहां उपलब्ध है स्मेक और हेरोईन
आजाद नगर, बम्बई बाजार, सदर बाजार, बाणगंगा, कुशवाह नगर, गफुरखां की बजरिया, खजराना क्षेत्र सहित शहर की निचली बस्तियों में यह नशा आसानी से उपलब्ध हो रहा है। हेरोईन की एक पुडिय़ा 50 से 100 रुपए तक बिक रही है। सूत्रों का कहना है कि स्मेक के दाम भी 100 से 200 रुपए तक हैं, जो युवाओं को आसानी से उपलब्ध हो रहे है।
बढऩे लगा पब का चलन
नशे के कारोबार से जुड़ा एक ओर पब का चलन धीरे-धीरे बढऩे लगा है। शहर में भले ही प्रशासन द्वारा हुक्का बारों पर प्रतिबंध लगा दिया है, लेकिन उसके बावजूद कई स्थानों पर हुक्काबार संचालित हो रहे है। कल रात भी प्रशासन द्वारा कैयरो पब पर छापामार कार्रवाई कर यहां से बड़ी मात्रा में अवैध शराब जब्त की गई।
कोड वर्ड से मिलता है नशा
महंगे से सस्ता नशा तक नशेडियों को कोड वर्ड से मिलता है। सूत्रों का कहना है कि जो भी इन कारोबारियों के सम्पर्क में आता है, उनको एक कोड वर्ड उपलब्ध कराया जाता है, उसके बाद जब भी वह हेरोईन, स्मेक, चरस, गांजा या नशे की पुडिय़ा लेने पहुंचता है तो उसे वह कोड वर्ड बताना होता है। उसके बाद कंफर्म कर उसे मनचाहा नशा आसानी से उपलब्ध हो जाता है।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here