Crime :बच्चा पैदा करने के लिए महिला को खरीदा:16 महीने तक रेप; डिलीवरी के बाद नवजात को छीना और भगा दिया

0
648

लोकल इंदौर lउज्जैन का रहने वाला व्यक्ति संतान की चाहत में नागपुर से महिला को खरीदकर लाया। उसे 16 महीने तक घर में छिपाकर रखा। उसका शारीरिक शोषण करता रहा। डिलीवरी के लिए महिला को प्राइवेट अस्पताल में पत्नी के नाम से भर्ती कराया। ऑपरेशन से डिलीवरी हुई। इसके कुछ घंटे बाद उसे अस्पताल से भगा दिया गया। पुलिस ने आरोपी दंपती को गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा 2 अन्य पर भी केस दर्ज किया गया है।

मामले का खुलासा तब हुआ, जब महिला 6 नवंबर को पुलिस को लावारिस मिली। महिला को वन स्टॉप सेंटर लाया गया। यहां पता चला कि उसके पेट में इंफेक्शन हो गया, जिससे हालत बिगड़ गई। अब महिला का इलाज कराया जा रहा है। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया है। महिला की निशानदेही पर पुलिस गांव भी गई। महिला से वन स्टॉप सेंटर में पूछताछ की।

कौन है आरोपी

 दैनिक भास्कर के अनुसार  आरोपी का नाम राजपाल सिंह दरबार बताया जा रहा है। वह उज्जैन के तराना के गांव काठबड़ोदा में उप सरपंच रह चुका है। उसके भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों से संबंध हैं। वह इलाके का दबंग नेता है। उसके घर में बाहरी लोगों के आने-जाने पर भी प्रतिबंध है।

नागपुर में चंदा नाम की महिला ने बेचा था

एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने बताया कि 19 वर्षीय पीड़िता नागपुर के नजदीक गांव की रहने वाली है। उसके माता-पिता नहीं हैं। वह अपने छोटे नाबालिग भाई के साथ रहती थी। गुजारे के लिए वह 5 हजार रुपए प्रतिमाह में नौकरी करती थी। भाई फिलहाल पैतृक गांव में ही रह रहा है।

Indore :फेसबुक पर  छोटी बच्चियों से दोस्ती कर उन्हें ब्लैकमेल  करने वाला मुम्बई से पकडाया

महिला ने वन स्टॉप सेंटर में बताया कि नागपुर की चंदा नाम की महिला ने उसे डेढ़ साल पहले शादी का झांसा देकर बेचा था। वह व्यक्ति उसे गांव ले आया। यहां 16 महीने तक उसका शारीरिक शोषण किया।

पत्नी के पेट पर लगा रखा था तकिया

महिला ने पूछताछ में बताया कि व्यक्ति की पत्नी के दो बच्चे थे। पति ने उसकी नसबंदी करवा दी। इस बीच उसके बच्चे मर गए। चूंकि अब उसकी पत्नी बच्चे पैदा करने लायक नहीं रही, तो उसने बच्चा पैदा करने के लिए मुझे खरीदा। उसकी पत्नी मुझे पति के साथ रहने के लिए कहती थी। मुझसे मारपीट भी करती थी। 16 महीने तक छिपाकर रखा गया। उस आदमी ने उसकी पत्नी के पेट पर तकिया बांध दिया था, जिससे लोगों को लगे कि वह गर्भवती है।

केस में पांच आरोपी

देवासगेट थाना प्रभारी राम मूर्ति शाक्य ने बताया कि आरोपी युवक पर सात धाराओं 344, 376-ए, 365, 377, 323, 506 व 120-बी के तहत केस दर्ज किया गया है। इस मामले में पांच आरोपी बनाए गए हैं। राजपाल सिंह दरबार के साथ उसकी पत्नी, उसके जीजा वीरेंद्र सिंह, भानजा कृष्णपाल सिंह और मध्यस्थ की भूमिका निभाने वाली महिला चंदा। पीड़ित महिला देवास गेट पुलिस को रेलवे स्टेशन से मिली थी, इसलिए देवास गेट थाना पुलिस ने शून्य पर कायमी करके केस डायरी कायथा पुलिस को सौंप दी है। महिला को फिलहाल वन स्टॉप सेंटर में ही रखा गया है। इसके पहले उसका जिला अस्पताल में गुरुवार दोपहर को मेडिकल चेकअप कराया गया।

पत्नी के

आरोपी ने नहीं की लीगल शादी

आरोपी राजपाल सिंह ने नागपुर की महिला से वैदिक रीति-रिवाज अथवा कोर्ट मैरिज नहीं की है। उसने शादी को नोटरी किया है। एसपी का कहना है कि महिला को संतुष्ट करने के लिए यह कागज गढ़ा गया है। इस शादी को लीगल नहीं माना जा सकता। पीड़ित महिला का नवजात फिलहाल आरोपी राजपाल सिंह दरबार के परिवार के पास ही है। उसे जांच पूरी होने के बाद महिला को सौंप दिया जाएगा।

महिला की खरीद-फरोख्त हुई क्या?
आरोपी और महिला की पहचान कैसे हुई और उन्हें किसने मिलवाया। दोनों की शादी कराने में कौन-कौन लोग शामिल हैं, इन सभी पहलुओं की भी जांच की जाएगी। ताकि यदि महिला की खरीद-फरोख्त हुई हो तो उस रैकेट को भी गिरफ्त में लिया जाएगा। फिलहाल उसे नोटरी के आधार पर पत्नी होना बताया जा रहा है। लेकिन उसने पहली पत्नी को तलाक नहीं दिया है।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here