दिग्विजय सिंह बोले एनपीआर, एनसीआर जैसे कानून की जरूरत नहीं

0
293

लोकल इंदौर 15 फरवरी. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज इंदौर में कहाकि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मैं मांग करता हूं कि जो नागरिकता कानून बनाया गया है, उसे वापस लें।एनपीआर, एनसीआर जैसे कानून की जरूरत नहीं है, क्योंकि जो पुराना कानून था, उससे ही नागरिकता दी जा सकती है। लोगों को गलतफहमी है, क्योंकि इन लोगों ने नया काम किया है। आजादी से लेकर अभी तक करीब एक करोड़ लोगों को हम नागरिकता दे चुके हैं, जिसमें 88 प्रतिशत हिन्दू हैं, फिर इस नए कानून की जरूरत क्यों है। केवल हिन्दू-मुस्लिम भाइयों के बीच में खाई पैदा करना है, इसलिए हम इसका विरोध कर रहे हैं।

इंदौर आये श्री सिंह ने में मीडिया से बात करते हुए  कहाकि कि शाहीन बाग मामले में गृहमंत्री अमित शाह ने वहां बैठीं हमारी माताएं-बहनों को चर्चा के लिए बुलाया है। यही चर्चा पहले कर लेते तो आज यह नौबत नहीं आती। चर्चा केवल चर्चा नहीं रहनी चाहिए, इस असंवैधानिक नागरिकता कानून को वापस लेना चाहिए। सरकार को यह समझ आने लगा है कि देश में विस्फोटक स्तिथि पैदा होती जा रही है, लेकिन देर से समझ आया। देर से आए, लेकिन दुरुस्त आए। ईश्वर उन्हें सद्बुद्धि दे।आसम की एनआरसी में 11 साल लगे, 16 सौ करोड़ खर्च हुए और जिसने मेहनत की उसे वहां से भगा दिया। उस पर झूठा केस लादकर पूरी एनआरसी के एक्साइज को खारिज कर दिया। इसलिए इस कानून की जरूरत नहीं है। हमारे पास आधार कार्ड है, वोटर आईडी कार्ड है, इसलिए इसकी जरूरत नहीं है।

 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here