300 की उधारी में कर दी युवक की हत्या..

0
202

लोकल इंदौर ६ अगस्त . उधारी के दिए ३०० रूपये मांगने पर गाली देने से नाराज दोस्तों ने युवक की हत्या कर दी थी , पुलिस ने गत दिनों मिली सर कुचली लाश ला पर्दाफाश करते हुए ये खुलासा किया और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया

गत दिनों लसुडिया  क्षेत्र के राहुल गांधी नगर में खाली मैंदान के पास सुबह 6-00 बजे राहगीरों ने एक व्यक्ति की लाश खून में लथपथ देख कर पुलिस को सूचना दी मौके पर पहुच कर पुलिस ने लाश की शिनाख्त विजय उर्फ गजनी पिता स्व तुलसीराम कनाड़े उम्र 29 साल निवासी राहुल गांधी नगर के रूप में की मौके पर मृतक के सिर के पास एक खून लगा हुआ पत्थर पड़ा था तथा सिर में चोट के निशान थे जिससे स्पष्ठ था कि मृतक को किसी व्यक्ति द्वारा चोट पहुचा कर हत्या की है मौके की कार्यावाही से घटना हत्या की होने से अज्ञात आरोपीगणों के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया ।

पूछताछ कर पता चला कि मृतक विजय शराब पीने का आदि था और शराब पीने पास की कलाली मे जाता था। कलाली राहुल नगर से 300 मीटर की दूरी पर थी। कलाली तक पहुचने के लिये खाली पडे खेतो से गुजरना पडता है। कई बार अधिक शराब पीने के कारण शराबी लोग इसी मैदान पर अत्यधिक नशे कर पडे रहते है। विजय भी अक्सर शराब पीने के बाद घर देर आता था या कभी- कभी वही मैदान पर सो जाता था और सुबह घर लोटता था। इसलिये घर मे माॅ सीता बाई चिंता नही करती थी।
घटना के दिन भी विजय घर नही लौटा तो राहगीरो ने विजय को सडक किनारे खेत पर पडे हुए देखा। विजय के सिर पर चोट लगी हुई थी और काफी खून बह चुका था। प्रथम द्रष्टया सिर मे चोट और अत्यधिक खून बहने के कारण मृत्यू होना प्रतीत होता था।

दर्जन भर  लोगों से हुई पूछताछ 

माॅ सीताबाई से पूछताछ मे विजय के संबध मे यह जानकारी मिली कि वह खुल्ली मजदूरी करता है और अधिकाश पैसा शराब पीने मे उडा देता है। विजय का भाई सचिन भी सुबह तक अपने घर नही लौटा था। अतः घटना मे कई लोगो पर शंका की गई और एक दर्जन से अधिक व्यक्तियो से पूछताछ की गई ।

अंडे की दुकान पर दिखा था दोस्तों के साथ 

पतारसी के दौरान ज्ञात हुआ कि रात्री करीब 9-00 मृतक विजय कनाड़े और दिलीप व सुमित जिग्री दोस्त है साथ खाते व शराब पीते है। कल राहुल गांधी नगर में अंडे की दुकान के सामने आरोपी दिलीप व सुमित के साथ घूम रहा था। आरोपी सुमित व दिलीप के साथ अक्सर शराब पीकर घुमता रहता था। अंतिम बार मृतक को इन दोनो के साथ घुमते हुए मैदान तरफ जाते हुए देखा गया था। इस आधार मृतक के अन्य दोस्तो से पुछताछ कर दिलीप व सुमित सिसोदिया की तलाश की तो पता चला कि दोनो अपने घर पर नही है और रात्री से ही फरार है।

गुजरात भागने की तैयारी थी 
दिलीप व सुमित की पतारसी में लगाये गये मुखबीर से सूचना मिली कि आरोपी सुमित व दिलीप अपने मोबाईल फोन बेच कर गुजरात तरफ भागने की फिराक में है। सूचना मिलने पर पुलिस ने घेराबंदी कर दोनो आरोपीगणों को हिरासत में लिया तथा पुछताछ की जिसमें दोनो आरोपीगणों ने कबूल किया कि मृतक विजय से 300/- रूपये उधारी के लेने थे जिससे काफी दिनों से मांग रहे थे आज भी उधारी के रूपये की बात हो रही थी तभी विजय ने रूपये देने से मना कर मां बहन की गालियां देने शुरू कर कर जिससे गुस्सा होकर उसके सिर में पत्थर मार किया तथा मैदान में ही छोड़ कर दोनो आरोपीगण निकल गये।तथा खून लगे हुए कपडे रात में ही बदल कर घर के पीछे छिपा दिये जो पुलिस ने बरामद कर लिये।
10000/- रूपये का था  नगद इनाम

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रूचि वर्धन मिश्र एवं पुलिस अधीक्षक मो युसुफ कुरैशी ने अज्ञात आरोपीयों की गिरफ्तारी व पतासाजी के लिये 10000/- रूपये नगद इनाम की घोषणा कर अति. पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिहं चैहान एवं नगर पुलिस अधीक्षक हरीश मोटवानी को अज्ञात आरोपीयों की पतासाजी हेतु निर्देशित किया तथा थाना प्रभारी लसुड़िया संतोष दुधी के नेतृत्व में टीम का गठन कर आरोपीयों की पतासाजी प्रारंभ की गयी

इनकी थी  मेहनत 

प्रकरण के आरोपी की पतारसी व घेराबंदी में उनि हेमंत निशोद , सउनि राकेश चैहान , सउनि जयंत कुशवाह आर राजकुमार चैवे , धीरेन्द्र राठौर , नीरज तोमर, मनोज नायक , आर देवेन्द्र जादोन, आर अंकुश का सराहनीय योगदान रहा है। अज्ञात आरोपीयों की गिरफ्तारी व पतासाजी के लिये 10000/- रूपये नगद इनाम इन कर्मचारियो को दिया जावेगा।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here