Indore Airport:नई गाइडलाइन के बीच पहुंचे 109 यात्री ,सबकी एयरपोर्ट पर हुई कोरोना जांच

0
369

लोकल इंदौर 16 मार्च। महाराष्ट्र से आने वाले हवाई यात्रियों पर सख्ती होना शुरू हो गई हैं। मंगलवार सुबह मुम्बई से आये 109 यात्रियों की एयरपोर्ट पर जांच की गई हैं। इन लोगो को रिपोर्ट आने तक अनिवार्य रूप से क्वॉरेंटाइन रहना होगा। गौरतलब है कि सोमवार रात को ही जिला प्रशासन ने एक आदेश जारी कर महराष्ट्र से आने वाले हवाई यात्रियों के लिए यात्रा के 48 घंटे पहले की कोरना नेगेटिव की रिपोर्ट होना अनिवार्य किया था। जो यात्री यह रिपोर्ट लेकर नहीं आएंगे, उनके लिए जिला प्रशासन ने एयरपोर्ट पर ही rt-pcr जांच की व्यवस्था की है। मंगलवार को सुबह मुंबई से आई उड़ान के यात्रियों को इस बात की जानकारी नहीं थी। इसलिए सभी 109 यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही जांच की गई।

गौरतलब है की कल  जारी निर्देश इस प्रकार है

 

यात्रियों के लिए जारी निर्देश

  • महाराष्ट्र से इंदौर जिले में हवाई मार्ग से यात्रा करने वाले सभी यात्रियों को अपने साथ कोविड आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट रखना अनिवार्य होगा। यह रिपोर्ट यात्रा से 48 घंटे के भीतर की होनी चाहिए। यात्रियों को एयरपोर्ट पर प्रशासन की ओर से नियुक्त कोविड कंट्रोल दल को यह रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा। रिपोर्ट दिखाने पर ही यहां से जाने दिया जाएगा।
  • जिन यात्रियों के पास रिपोर्ट नहीं होगी, उन्हें एयरपोर्ट पर ही अपना आरटीपीसीआर टेस्ट आवश्यक रूप से कराना होगा। टेस्ट की रिपोर्ट आने तक खुद को क्वाॅरेंटाइन रखना होगा। आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए लगने वाली राशि यात्रियों को ही देना होगी।टेस्ट कराने के बाद वहां मौजूद कोविड दल से संपर्क कर इंदौर-311 एप डाउनलोड करना होगा। इससे यात्री के होम क्वाॅरेंटाइन होने की निगरानी कोविड कंट्रोल कमांड सेंटर करेगी।
  • एयरपोर्ट डायरेक्टर द्वारा Arrival Lounge के पास जगह चिन्हांकित कर तीन कोविड टेस्ट सेंटर के लिए जगह और संसाधन उपलब्ध किया जा रहा है। निर्धारित लैब में से सुविधानुसार किन्हीं भी तीन लैब्स का निर्धारण एयरपोर्ट डायरेक्टर द्वारा किया जाएगा। संबंधित कोविड टेस्ट सेंटर द्वारा उनके द्वारा प्रतिदिन किए गए टेस्ट से संबंधित सभी जानकारी प्रशासन की टीम को उपलब्ध करवाना होगा। उक्त टेस्ट की रिपोर्ट को तत्काल शासन की टीम को उपलब्ध कराना होगा।
  • आदेश का उल्लघन होने पर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट-2005 एवं एपेडमिक डिसिज एक्ट-1897 में प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए भारतीय दण्ड विधान की धारा 187, 188, 269, 270 तथा 271 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here