Indore :इंदौर नगर निगम का 82 करोड के घाटे का बजट: नहीं बढा कोई टेक्स

0
281

लोकल इंदौर बुधवार .९ जून lसंभागायुक्त एवं प्रशासक डाॅ. पवन कुमार शर्मा की अध्यक्षता में आज नगर पालिक निगम इंदौर वर्ष 2021-22 के बजट प्रस्ताव पर समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में प्रस्तावित बजट 2021-22 की स्वीकृति प्रदान की गई। बैठक में आयुक्त नगर पालिक निगम प्रतिभा पाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

नगर निगम के वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में रू 5162 करोड की प्रस्तावित आय एवं रू 5060करोड का व्यय सहित रक्षित निधि सम्मिलित करते हुए, रू 82 करोड के घाटे का बजट स्वीकृत किया गया।

बजट संक्षिप्त विवरण

निगम द्वारा प्रस्तावित वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में करों की दरो में कोई परिवर्तन व वृद्धि नहीं की गई है एवं कोई नया कर नहीं लगाया गया है।

वर्ष 2021-22 में संपत्तिकर के 6.25 प्रतिशत छूट के साथ अग्रिम भुगतान हेतु समय सीमा को 30 सितम्बर 2021 किया गया है। साथ ही बिना किसी अधिभार के विवरणी सहित सम्पत्तिकर जमा करने की तिथि 31 दिसम्बर 2021 नियत की गई है।

नगर निगम द्वारा इंदौर में तेजी से बढती हुई जनसंख्या और उसी के अनुरूप शहर में आवश्यक विकास को ध्यान में रखते हुए विभिन्न मदों में राशि प्रस्तावित की गई। नगर निगम द्वारा इंदौर रोड मैप 2021-2026 के मुख्य घटक शहरी अधोसंरचना, ट्रैफिक प्रबंधन, आत्मनिर्भर इंदौर, पर्यावरण संरक्षण और सामाजिक दायित्वों को केंद्रित करते हुए बजट वर्ष 2021-22 तैयार किया गया है।

बजट के मुख्य मद, प्रस्तावित कार्य एवं स्वीकृत राशि

1. स्वच्छ भारत मिशन

* स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शहर में सफाई व्यवस्था हेतु आवश्यक उपकरण एवं अन्य संसाधन हेतु राशि रू 104 करोड़ की स्वीकृत की गई है।

* शहर के बढ़ते हुए विकास को दृष्टिगत रखते हुए एक 500 मेट्रिक टन की क्षमता का कंस्ट्रक्शन एण्ड डिमोलिशन (सीएण्डडी) वेस्ट प्लांट इस वित्तीय वर्ष में आरंभ किया जावेगा। इस प्लांट का निर्माण पीपीपी मोड़ में किया जावेगा एवं रू. 5 करोड़ का टोकन प्रावधान बजट में रखा है।

* स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत वर्ष 2021-22 में एक और नवीन मटेरियल रिकवरी फैसिलिटी का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है।

* इस वर्ष विकेन्द्रीकृत कचरा निष्पादन को जारी रखते हुए 5 और वार्डों को जीरो वेस्ट वार्ड बनाया जावेगा।

2. कोरोना संक्रमण से रोकथाम

# कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु निगम द्वारा किये जा रहे नियमित कार्यों के साथ-साथ रू.50 करोड़ की अतिरिक्त राशि प्रावधानित की गई है।

# कोरोना के कारण घरों से कचरा उठाने में बायो मेडिकल वेस्ट (पीपीई किट इत्यादि) अधिक मात्र में प्राप्त हो रहा है जिसके निपटान हेतु रू. 5 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई।

# नगर निगम द्वारा हेजार्डस वेस्ट का कलेक्शन एवं निष्पादन भी अलग से किया जा रहा है, उसके लिए रू. 2.00 करोड़ का अलग से प्रावधान किया गया है।

सेनेटाइजेशन एवं फाॅगिंग
# सभी कन्टेनमेंट/माइक्रो कन्टेनमेंट झोन/क्षेत्रो में डी-नोटिफिकेशन होते ही पूर्ण सेनेटाईजेशन/फागिंग का कार्य किया जाएंगा। अन्य संक्रमित क्षेत्रों में सेनेटाइजेशन एवं फाॅगिंग का कार्य सतत् किया जावेगा।

# 56 दुकान, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन एवं प्रमुख सार्वजानिक स्थानो पर सेनेटाईजर उपकरण मशीन स्थापित की जाएंगी।

# निगम द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर रियायती दरों पर मास्क प्रदाय कराने की व्यवस्था की जावेगी।

3. सीवरेज तंत्र

# सीवरेज तंत्र के अंतर्गत निगम द्वारा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट एवं सीवर लाईन के संधारण व निर्माण कार्य हेतु रू 460 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# निगम द्वारा दो सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (लक्ष्मी मेमोरियल हाॅस्पिटल के पास पुल एवं शक्कर खेड़ी नाले के पास) के निर्माण का कार्य किया जाएंगा।

#निगम द्वारा नयी नई सीवर लाईन बिछाने का कार्य किया जाएंगा, जिसके तहत लगभग 100 कि.मी. के क्षेत्र को कवर किया जाएंगा।

# शहर में बढ़ती हुई सीवर लाइन को दृष्टिगत रखते हुए सफाई हेतु नयी मशीनें क्रय की जाएंगी, जिसके लिए बजट में रू. 50 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

4. जल प्रदाय

# हर घर में नल… हर नल में जल… इसी स्लोगन को दृष्टिगत रखते हुए नगर निगम द्वारा रू 550 करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है।

#जल प्रदाय को 100 प्रतिशत घरो में पहंुचने के लक्ष्य की ओर अग्रसर होते हुए वर्ष 2021-22 में इंदौर शहर में 9 स्थानों गोंदवले धाम, नवलखा, पालदा, स्नेहलता गंज, भौरासला, कुमेडी, भानगढ़, पीयू-4 भूसामंडी तथा सुखलिया ग्राम में टंकी निर्माण का कार्य प्रस्तावित है। उपरोक्त पानी की टंकियांे के माध्यम से 80 कि.मी. के क्षेत्र में जल वितरण किया जावेगा।

# जल पुनर्भरण हेतु रू 20 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है। इस वित्तीय वर्ष में 5 वार्डों को 100 प्रतिशत रिचार्ज वार्ड करने का संकल्प है।

#जलाशयों के जीर्णोद्धार हेतु विभिन्न तालाब जैसे बिलावली, खजराना, लिम्बोदी, तलावली, भोरासला, लसुडिया, पिपल्यापाला, सिरपुर, पिप्लियाहाना इत्यादि तालाबों के संधारण एवं विकास हेतु रू 48 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# पर्यावरण संरक्षण अंतर्गत नदी की सफाई, संधारण एवं विकास हेतु रू 55 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# शहरी सीमा के पास में नवीन क्लोरिनेशन प्लांट की स्थापना हेतु 5 करोड़ का प्रावधान किया गया हैं।

5. जनकार्य

# सड़कों के संधारण एवं निर्माण हेतु रू 308 करोड की राशि का प्रावधान किया गया हैं।

# मास्टर प्लान योजना अंतर्गत 4 महत्वपूर्ण सडकों जिनमें शहर में एमआर 3, एमआर 5, एमआर 9, और आरई 02 का निर्माण प्रस्तावित है।

# नगर निगम द्वारा योजनाआंे के तहत शहर में यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने हेतु प्रमुख सड़के, फुटपाथ, फीडर रोड एवं लिंक रोड का निर्माण किया जाएंगा।

# इस वर्ष ड्रेनेज हेतु रू. 50 करोड़ का प्रावधान रखा गया है, जिससे लगभग 50 कि.मी. के नवीन ड्रेनेज लाईन का विकास संभव हो सकेगा।

# नगर निगम द्वारा अपनी लीज़्ा/किराये पर दी गई दुकानों में सुधार एवं रखरखाव हेतु कार्य किया जावेगा।

# नगर निगम द्वारा पुलों के संधारण एवं निर्माण हेतु रू 47 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

6. यातायात प्रबंधन

#शहर में यातायात प्रबंधन हेतु रू 100 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# शहर के बढते यातायात के दबाव से निजात पाने एवं सुगम यातायात हेतु विभिन्न चैराहा जैसे भंवर कुआं चैराहा, नवलखा चैराहा, रसोमा चैराहा, निरंजन पुर चैराहा, तीन इमली चैराहा, इन्द्रप्रस्थ चैराहा इत्यादि के विकास एवं सौन्दर्यकरण का कार्य किया जावेगा।

# ग्रेटर कैलाश रोड पर मल्टी लेवल पार्किंग का कार्य किया जाना प्रस्तावित है।

# सुगम यातायात हेतु शहर के विभिन्न लेफ्ट टर्न के विकास का कार्य किया जाना है।

$ शहर में निरीक्षण कर ऐसी खुली जगहों को चिन्हित किया जायेगा, जहां पार्किंग की आवश्यकता है अथवा पार्किंग की जा रही है। इन स्थानों को आउटडोर पार्किंग स्थलों के रूप में विकसित किया जावेगा।

#नगर निगम के व्यावसायिक संस्थानों में पार्किंग एरिया का बेहतर रख रखाव किया जायेंगा एवं इनकी देखरेख हेतु आवश्यकतानुसार मानव संसाधन भी उपलब्ध कराया जावेगा।

7. मोबिलिटी

# मोबिलिटी हेतु रू 50 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# मोबिलिटी अंतर्गत 400 नयी बसों का क्रय किया जाना, बुजुर्गों, विद्यार्थियों एवं निःशक्त जन
हेतु रियायती पास जारी करना, कॉमन मोबिलिटी पास जारी करना, सिटी बस स्टॉप के
संधारण एवं निर्माण का कार्य किया जाना, पिकअप पॉइंट का निर्माण करना आदि प्रस्तावित
है।

# विजय नगर में बस स्टैंड एवं बीआरटीएस पर डिपो निर्माण का कार्य किया जाना प्रस्तावित है।

8. प्रकाश व्यवस्था

# शहर में प्रकाश व्यवस्था हेतु रू 104 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# निगम जलप्रदाय के विद्युत खपत को कम करने तथा पर्यावरण की दृष्टि से जलूद मंडलेश्वर स्थित जलशोधन प्लांट के पास 100 मेगावाट का सोलर प्लांट स्थापित किया जाएंगा। इस प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन हेतु रू. 100 करोड़ का प्रावधान रखा गया है।

# 2021-22 में उर्जा बचत हेतु लगभग 20000 परंपरागत लाईट को सोलर  लाइट में परिवर्तित करने कार्य किया जाएंगा।

# वर्ष 2021-22 में विभिन्न उद्यानों जैसे पल्हर नगर गार्डन न. 2, स्कीम न. 54 विजयनगर मांगलिक भवन के पीछे, कंचनबाग गार्डन न. 2, अर्जुनपुरा उद्यान लालबाग के सामने, गणेशपुरी उद्यान गणेश मंदिर खजराना के पीछे, इन्द्रपुरी शिव मंदिर उद्यान, पावनधाम उद्यान वार्ड 36 इत्यादि में सोलर लाईट का कार्य प्रस्तावित है। इस वित्तीय वर्ष में कुल 25 उद्यान सोलर लाइट हेतु लिए जायेंगे।

# इसी प्रकार 5 मुख्य मार्गों पर सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने का कार्य प्रस्तावित है।

9. उद्यानों का विकास एवं संधारण

# उद्यानों का विकास एवं संधारण हेतु रू 72 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# वर्ष 2021-22 में इंदौर शहर में 20 नए उद्यानों के विकास का कार्य किया जाना है।

# अधिकत्तर उद्यानों की सिचाई की व्यवस्था हेतु ैज्च् से ट्रीटेड पानी का इस्तमाल किया जाएंगा एवं शेष उद्यानों के लिये बोरिंग की व्यवस्था की जाएंगी।

# वर्ष 2021-22 हरियाली महोत्सव में एक लाख से अधिक पौधो का रोपण का कार्य प्रस्तावित है। शहर की प्रमुख नदी, कान्ह एवं सरस्वती तथा प्रमुख नालों पर लगभग 60 हजार पौधो
का, पितृ पर्वत पर शेष रिक्त भूमि पर 15 हजार पौधो का, ट्रेन्चिंग ग्राउंड पर 10 हजार पौधो का एवं शेष पौधो का ग्रीन बेल्ट, उद्यानों एवं डिवाईडरो पर रोपण किया जाएंगा।

# इसके अतिरिक्त कॉलोनियो में संस्था की मांग पर निःशुल्क पौधो का वितरण कर उनका रोपण निगम की देख रेख में कराया जाएंगा।

10. काॅलोनियों का हस्तांतरण

# शहर में आईडीए द्वारा विकसित काॅलोनियों/पूर्ण स्कीमों का हस्तांतरण नगर निगम द्वारा लिया जावेगा। इसी प्रकार अगर प्रायवेट काॅलोनियां भी पूर्ण है उनका भी हस्तांतरण नगर निगम द्वारा प्राथमिकता पर लिया जावेगा।

11. गरीबो के लिए आवास

# सब के लिए आवास योजना (प्रधानमंत्री आवास योजना) के तहत रू 700 करोड की राशि प्रावधानित की गई है।

# इस योजना के अंतर्गत आवास निर्माण के साथ निर्माण स्थल पर आंतरिक मुलभूत सुविधाऐं जिसके अंतर्गत पेयजल, सीवरेज लाईन, प्रकाश व्यवस्था, विद्युतीकरण, उद्यान, पौधारोपण, पहुंच मार्ग एवं आवश्यक सुविधाऐं हेतु प्रावधान किया गया है।

# योजना के अंतर्गत शहर के विभिन्न स्थानों पर कुल 25570 आवासीय इकाईयों के निर्माण कार्य इस वित्तीय वर्ष में पूर्ण किये जावेंगे। वर्तमान में उपरोक्त आवासीय इकाईयों में से 14 स्थानों पर 15250 आवासीय इकाईयों का निर्माण कार्य गतिशील है।

# सब के लिए आवास योजना अंतर्गत कनाडिया एक्सटेंशन (लाइट हाउस प्रोजेक्ट) में 1024 आवासीय इकाईयों का निर्माण कार्य गतिशील हैं, जिसे इस वित्तीय वर्ष में समयसीमा में पूर्ण किया जाना है।

12. सामाजिक एवं समावेशी विकास

#नगर निगम द्वारा भिक्षुक पुनर्वास हेतु भिक्षुक गृह बनाने हेतु रू 5 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# हॉकर झोन बनाने हेतु रू 5 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# आश्रय स्थल के संधारण हेतु रू 2 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# रेनबसेरा के संधारण एवं निर्माण हेतु रू 5 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

13. प्राणी संग्रहालय

# शहर में स्थित कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय के विकास व रख-रखाव हेतु रू 14 करोड की राशि स्वीकृत की गई।

# कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय में पीपीपी मोड़ पर एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर के अंडरवाटर एक्वेरियम

का निर्माण इस वित्तीय वर्ष में प्रावधानित है। इस हेतु रू 5 करोड की टोकन राशि बजट में रखी गई है।

14. खेल प्रकोष्ठ

# नगर निगम द्वारा प्रथक से खेल प्रकोष्ठ का निर्माण किया जाएंगा, जो इंदौर शहर में खेल गतिविधियों को प्रोत्साहित करने में अहम् किरदार निभाएंगा।

#खेल प्रकोष्ठ हेतु निगम द्वारा रू 20 करोड की राशि का प्रावधान किया गया है।

# इंदौर शहर के प्रत्येक विधान सभा क्षेत्रांे में एक-एक खेल मैदान का चहुंमुखी विकास (आवश्यक चार दीवारी, जिम, वाॅकिंग ट्रेक, खेल सुविधाएं आदि) किया जावेगा, ताकि यह मैदान खेल गतिविधियों का केन्द्र बन सकें।

# इसके अलावा पीपीपी मोड़ में भी कुछ चिन्हित खेल मैदानों का विकास का किया जावेगा।

 

 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here