इंदौर होलकर विज्ञान महाविद्यालय को बदनाम करने की साज़िश …कालेज में मोबाईल किया प्रतिबंधित

मामले की लिखित शिकायत साइबर क्राइम पुलिस को फोटो के साथ की गई है

0
1880

लोकल इंदौर ।इंदौर के 130 साल पुराना और प्रतिष्ठित इंदौर का  होलकर विज्ञान महाविद्यालय इन दिनों सोशल मीडिया के निशाने पर है।कॉलेज के प्राचार्य ने  इस मामले की लिखित शिकायत साइबर क्राइम पुलिस को फोटो के साथ की गई है।कालेज में मोबाईल किया प्रतिबंधित किया गया है l

होलकर विज्ञान महाविद्यालय के प्राचार्य सुरेश सिलावट ने बताया कि यदि इसमें किसी स्टूडेंट की संलिप्तता पाई जाएगी तो  उसे तत्काल टीसी देकर कॉलेज से निलंबित कर दिया जाएगा।कॉलेज के प्राचार्य ने  बताया कि इंस्टाग्राम पर होलकर के नाम के तीन बिंदुओं पर गन्दी व अश्लील बातें हो रही है। उनके अनुसार   होलकर के ब्रांड के नाम पर दुरुपयोग किया जाएगा तो उन पर एफआईआर करवाई जाएगी। वहीं इस मामले की लिखित शिकायत साइबर क्राइम पुलिस को फोटो के साथ की गई है। जो अपराधी स्टूडेंट होगा उसे तत्काल टीसी देकर कॉलेज से निलंबित कर दिया जाएगा।

प्राचार्य सिलावट ने बताया कि इंस्टाग्राम पर तीन तरह के होलकर के नाम से इंस्टाग्राम के अकाउंट बनाए गए हैं और उन्हें खोलने का अधिकार नहीं है, क्योंकि ये कॉलेज सरकारी उपक्रम है उसकी छवि कोई धूमिल नहीं कर सकता। उन्होंने माना कि महाविद्यालय की छवि को धूमिल करने की ये साजिश है जिसमें कुछ नए स्टूडेंट्स व पुराने स्टूडेंट्स भी हो सकते हैं।

Indore :इंदौर का नाम बदलने की चर्चा : विजयवर्गीय बोले उन्हें आपत्ति नहीं है..!

130 साल पुराना है होलकर विज्ञान महाविद्यालय

10 जून 1891 में होलकर वंश के महाराजा शिवाजीराव होलकर ने इसकी आधारशिला रखी।यह 36 एकड के भू भाग में फैला हुआ है एवं वर्तमान में गणित एवं जीवविज्ञान संकाय के 10 से अधिक विभाग संचालित है।यशवंत हाल, रेड बिल्डिंग,एकेडमिक हाल यहां के प्रमुख शिक्षण और साहित्यिक केंद्र है। 1985 में इस महाविद्यालय को आदर्श(माॅडल) का जबकि 1988 में इसे स्वशासी(आटोनामस) का दर्जा दिया गया था। वर्ष 2015-2016 में इसे नेक NACC द्वारा ‘ए’ ग्रेड प्रदान किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here