Indore Corona: कोरोना के टीका आपके लिए ये सवाल जवाब ,ताकि कोई भ्रान्ति न रहे!

0
533

लोकल इंदौर ४ अप्रैल .  कोरोना ने जिस तेजी से आम लोगों को अपने गिरफ्त में लिया है उसी तेजी से प्रशासन भी इससे निपटने में लगा है . कोरोना से लड़ने के लिए प्रशासन  वेक्सीनेशन  कर  रहा है . आम आदमी के मन कोइ भ्रान्ति न रहे इस लिए कुछ सवाल जवाब जो वरिष्ठ डाक्टरों से सामने आये है वो हम यहा प्रस्तुत कर रहे है :; ताकि कोई भ्रान्ति न रहे :

 *कौनसी वैक्सीन लगवाना चाहिए, कोविशील्ड या कोवैक्सीन?
 दोनों ही वैक्सीन सुरक्षित हैं, लेकिन ध्यान रहे पहला डोज जिस ब्रांड का लगवाया है, दूसरा भी उसी ब्रांड का लगवाएं। क्योंकि दोनों वैक्सीन की एंटीबॉडी डेवलप करने की मैकेनिज्म अलग-अलग होती है।
* क्या वैक्सीन सभी को लगवाना अनिवार्य है?
वैक्सीन लगवाना अनिवार्य तो नहीं है, लेकिन सभी नागरिक वैक्सीन लगाकर खुद और समाज को सुरक्षित रख सकते हैं। 60 फीसदी जनता का वैक्सीनेशन हो गया तो हार्ड इम्यूनिटी विकसित हो जाएगी।
*वैक्सीन के दोनों डोज में कितना अंतर होना चाहिए?
 डीसीजीआई के निर्देश अनुसार कोविशील्ड वैक्सीन का दूसरा डोज, पहले डोज के 6-8 हफ्तों बाद और को-वैक्सीन का दूसरा डोज 28 दिन बाद लेना चाहिए।
 *यदि कोई एक डोज लगवाने के बाद संक्रमित हो गया तोउसे दूसरा डोज कब लगवाना चाहिए? 
पूरी रिकवरी होने के चार सप्ताह बाद ।
 *कितने दिन बाद इम्युनिटी विकसित होती है ? 
दूसरे डोज के 15 दिन बाद इम्युनिटी विकसित होगी।
*वैक्सीन लगवाने के बाद कितने दिन वायरस से सुरक्षित रह सकते हैं?
अभी जो डेटा सामने आया है उससे 6 महीने साल भर सुरक्षित रह सकते हैं। वैक्सीन लगवाने के बाद भी मास्क, सोशलडिस्टेन्स और हाथ धोने है वैक्सीन लगवाने के बाद यदि कोविड पॉजिटिव होते हैं तो रोगी की गंभीर स्थिति नहीं होगी, होम आइसोलेशन में ही स्वस्थ हो जाएंगे।
*वैक्सीन का क्या गंभीर परिणाम हैं?
 अब तक ऐसा नहीं हुआ है। केवल सर्दी, बुखार, बदन दर्द, जैसे लक्षणएक-दोदिनरहते हैं। ये अस्थायीलक्षणहैं जो जल्दी ठीक हो जाते हैं।
* बच्चों को भी वैक्सीन लगाया जा सकता है क्या? .
सिर्फ 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाया जा सकता है।
*यदि कोई रोगी कोविड पॉजिटिव है तो वह सीटी स्कैन चेस्ट टेस्ट कब करा सकता है?
सीटी चेस्ट स्कैन डॉक्टर की सलाह पर कराना चाहिए। हर किसी को सीटी स्कैन नहीं कराना चाहिए। कई लैब कोरोना टेस्ट पैकेज दे रहे है, जिन्हें बिना डॉक्टर की सलाह के लेने की बिलकुल जरूरत नहीं है।
*यदि किसी संक्रमित के संपर्क में आए हैं तो कब आरटीपीसीआर टेस्ट कराना चाहिए?
संपर्क में आने के 5 वें दिन कराना चाहिए।
*अस्पताल में भर्ती कब होना चाहिए?
यदि गंभीर लक्षणों के साथ जब आपका एसपीओ2 94 फीसदी से कम हो, या 6 मिनट चलने के बाद एसपीओ2 बार-बार कम होता हो तो अस्पताल में भर्ती होना चाहिए।साभार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here