इंश्योरेंस पालिसी के नाम पर दो गुनी राशि दिलाने का झांसा देने वाले गिरोह का मुखिया भी पकडाया

0
199

लोकल इंदौर ।इंश्योरेंस पालिसी के नाम पर दो गुनी राशि दिलाने का लालच देकर काल कर 65 फर्जी बैंक खातों में धोखाधडीपूर्वक रूपये डलवाने वाला सरगना को राज्य सायबर सेल, इन्दौर  ने गिरफ्तार किया है। इसके तीन साथियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

राज्य सायबर सेल इन्दौर पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह ने बताया कि फरियादी हरिकृष्ण शुक्ला पिता स्व0 रामशंकर शुक्ला निवासी- 28-29, सी सेवा सरदार नगर पलासिया, इन्दौर की शिकायत  को जांच में लिया गया।पूर्व में फरियादी के बैंक अकाउण्ट से ट्रांसफर हुए रूपयों की तकनीकी जाच एवं सूक्ष्म विश्लेषण द्वारा दिल्ली जाकर पतारसी की गइ थी जिसमे गिरोह के तीन मुख्य आरोपी फर्जी नाम पते से जनकपुरी, दिल्ली में चला रहे थे, लोन दिलाने के नाम पर टेलीकालिंग का आफिस जहा से टीम द्वारा लगातार 07 दिनों से दिल्ली में रहकर आरोपियों के आफिस के बाहर लगातार रेकी कर उनकी दिनचर्या व उनके बार में गोपनीय जानकारी प्राप्त कर उनके आफिस में दबीश देकर पकडकर इन्दौर लाया गया था। जहा प्रारम्भिक पूछताछ में आरोपियों ने अपना नाम 1. वरूण कुमार पिता श्रीचन्द्र किशोर सिंह उर्फ अभिषेक सिंह उर्फ अभिषेक मिश्रा उर्फ सूरजराय उर्फ इन्दरसिह 2. जितेन्द्र शर्मा उर्फ रोनक साहू पिता श्री राकेश शर्मा 3. सुमित कुमार उर्फ दीपक भारती को गिरफ्तार किया गया था। जिन्होंने पूछताछ में बताया था कि फरियादी को उसकी बंद पडी इंश्योरेंस पालिसी को चालू करने व राशि को दोगुना करने का लालच देकर बृजमोहन निवासी दिल्ली ने अपने साथियों के साथ मिलकर फरियादी को काल कर हमारे फर्जी बैंक खातों में रूपये डलवाये गये थे।

आरोपी द्वारा पूछताछ में बताया कि वर्ष 2017 से अलग-अलग इंश्योरंस कम्पनियों/हैल्थ एवं वाहन बीमा कम्पनी काम किया है, एवं इसी फिल्ड में रहकर इस प्रकार के फरियादियों का डेटा प्राप्त कर उनको अपने साथियों के साथ मिलकर अलग-अलग फर्जी नामों से फर्जी नाम पते से ली गई सीमों के माध्यम से काल कर अपने अन्य अकाउण्ट उपलब्ध करवाने वाले साथियों के साथ मिलकर धोखाधडी का शिकार बनाते है। इसी प्रकार इन्दौर निवासी फरियादी हरिकृष्ण शुक्ला के साथ धोखाधडी की है।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here