Indore: 26 वर्षों से बना रहे हैं खजराना गणेश के लिए भोग के “मोदक”

0
223
लोकल इंदौर १० सितम्बर l शुक्रवार को ब्रह्म-रवि योग के साथ स्वाति नक्षत्र के मंगलकारी संयोग में  घर-घर  गणेशजी  विराजित किये जायेंगे । शहर के गणेश मंदिरों में दोपहर 12 बजे भगवान गणेश की महाआरती होगी। इस अवसर पर आकर्षक-सज्जा के साथ गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ होगा। विश्व  प्रसिद्ध  खजराना गणेश मंदिर में दस दिनी गणेशोत्सव की शुरुआत होगीl इस बार गणेश जी को 1251 किलो पूरी तरह से शुद्ध खाद्य सामग्री से मोदक बनाए जा रहे हैं l आज उन्हें ५१ हजार मोदक का भोग लगेगा l भगवान  के गर्भ गृह और बाहर विशेष सजावट कीई गई l मोतियों से शृंगार किया गया और सोने के छत्र और  आभूषण  भी पहनाये गये l
26 वर्षों से बना रहे है भोग के लड्डू 

भगवान गणेशजी को अर्पित करने के लिए मोदक बनाने की पिछले 26 वर्षों से जवाबदारी निभा रहे कमलेश व्यास ने बताया कि इस बार भी 1251 किलो पूरी तरह से शुद्ध खाद्य सामग्री से मोदक बनाए जा रहे हैं। इसमें 4 क्विंटल मैदा 2 क्विंटल तिल, 1 क्विंटल मूंगफली दाना, 50 किलो ड्राई फ्रूट और साढ़े 3 क्विंटल शुद्ध देशी घी का उपयोग किया जा रहा है। यह मोदक 10 से 15 दिनों तक खराब नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि मुझे 26 वर्षों से गणेशजी की सेवा करने का मौका मिल रहा है ।

 सन 1735 में देवी अहिल्याबाई ने कराया था

खजराना गणेश मंदिर का निर्माण 1735 में देवी अहिल्याबाई ने कराया था। शहर में कोई भी पारिवारिक और सार्वजनिक आयोजन हो तो पहला निमंत्रण खजराना गणेश मंदिर में खजराना गणेश को दिया जाता है।  विवाह, गृह प्रवेश, जन्मदिन हो या समाज-संस्थाओं द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह, शपथ विधि और सम्मान समारोह के साथ   ही वाहन खरीदने के बाद घर से पहले लोग मंदिर में पहुंचकर पूजा अर्चना करते हैं। धनतरेस पर वाहनों के पूजन के लिए लंबी-लंबी कतारे लगती हैं।

 

 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here