Indore Holi : होलिका दहन :20 लोग ही हो सकेंगे शामिल

0
219
 लोकल इंदौर 28  मार्च . इंदौर में जिला प्रशासन और राजनेताओं के बीच होली दहन की तनातनी के और  कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच भी होलिका वहन की अनुमति प्रशासन ने दे दी  है, लेकिन इसमें कुछ प्रतिबंध लगाए हैं। होलिका दहन शहर के आतंरिक भागों और गलियों में ही कियाजासकेगा। इसमें भी अधिकतम 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। मुख्य मार्गों, चौराहों और बड़े मैदानों में होलिका दहन नहीं किया जा सकेगा।
इस संबंध में कलेक्टर मनीषसिंह ने धारा-144 के तहत आदेश जारी किए हैं। दरअसल, कोरोना मरीजों की तादाद
लगातार बढ़ने के कारण जिला आपदा प्रबंधन समूह ने रविवार-सोमवार को भी लाकडाउन रखने का फैसला लिया था।
इस कारण रविवार रात होने वाले होलिका दहन पर भी प्रतिबंध लग गया था। इस पर हिंदू संगठनों सहित भाजपा और कांग्रेस के कुछ नेता प्रशासन के विरोध में उतर आए थे। विरोध की आंच सरकार तक पहुंच रही थी, इसलिए बीच का रस्ता नये आदेश से निकाला गया .
 ये है आदेश में 

28 और 29 मार्च की दरम्यानी रात में प्रतीकात्मक रूप से काॅलोनी के आंतरिक भागों या गलियों में ही धार्मिक परंपरा का निर्वहन करते हुए सांकेतिक रूप से होलिका दहन किया जा सकेगा। सभी मुख्य मार्गों, चौराहों, बड़े मैदान आदि जगह यह पर्व मनाया जाना प्रतिबंधित रहेगा। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए होलिका दहन के दौरान अधिकतम 20 लोग उपस्थित रह सकेंगे। क्षेत्रीय थाना प्रभारी, कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, क्षेत्रीय सीएसपी और एसडीएम यह सुनिश्चित करेंगे कि कहीं भी मुख्य मार्ग, मुख्य चौराहों या बड़े मैदानों पर प्रतिबंधों का उल्लंघन न रहा हो।

शब-ए-बारात भी प्रतीकात्मक रूप से मनाया जा सकेगा। किसी भी मोहल्ले के निवासी उसी मोहल्ले से संबंधित कब्रिस्तान में जा सकेंगे। कब्रिस्तान कमेटी को यह सुनिश्चित करना होगा कि एक समय में अधिकतम 20 लोग ही कब्रिस्तान के अंदर रहे। दूसरे मोहल्ले के कब्रिस्तान में जाने पर रोक लगाई गई है। क्षेत्रीय थाना प्रभारी, कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, क्षेत्रीय सीएसपी और एसडीएम को आदेश का पालन करना होगा। इस दौरान सभी धर्मों के धर्मस्थल पूर्ण रूप से बंद रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here