Indore News-astrology: 4 फरवरी से बन रहा “पंचग्रही योग” क्या 1962 जैसे हालात बनाएगा ?

0
893

 4 फरवरी काे मकर राशि में पंचग्रही व 9 फरवरी काे मकर राशि में षडग्रही याेग बनेगा। मेदिनी ज्योतिश में बताया गया कि एक राशि मेें 5 या उससे अधिक ग्रह राहु-केतु को छोड़कर आकर मिले तो देश दुनिया में बडे राजनीतिक बदलाव होने के साथ ही महामारी आती है। सन 1962 के फरवरी माह में  भी मकर राशि में 8 ग्रहों की युति हुई तब महाशक्तियां अमेरिका और तत्कालीन सोवियत रूस, क्यूबा मिसाइल संकट में उलझ गए थे। जिससे दशकाें तक शीत युद्ध की स्थिति बनी रही। भारत- चीन युद्ध हुआ।

9 फरवरी को मकर राशी में शड्ग्रही योग बनेगा। सूर्य ,चंद्रमा, बुध, गुरू, शुक्र और शनि ग्रह एक साथ आएंगे। 11 फरवरी को मध्यरात्रि बाद तक मकर राशि में एक साथ रहेंगे। इससे पहले मकर राशि में 27 जनवरी को चतुग्र्रही योग और 4 फरवरी को पंचग्रही योग बना। ऐसे संयोग जब भी बने युगों तक अपना प्रभाव छोड़ गए। मकर राशि में 27 जनवरी को चतुग्र्रही योग बना , जो 4 फरवरी तक रहेगा। मकर में सूर्य, गुरू, शुक्र और शनि एक साथ रहेंगे। इसके बाद 4 फरवरी को रात 10 बजकर 41 मिनट पर बुध ग्रह भी मकर राशि में प्रवेश करेंगे।साथ ही मकर राशि में सूर्य, गुरू, शुक्र, शनि और बुध ग्रहों का पंचग्रही योग बनेगा।

यह पंचग्रही योग 9 फरवरी को रात 8 बजकर 30 मिनट तक रहेगा। इस दिन चंद्रमा भी रात 8 बजकर 30 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। वहीं मकर राशि में सूर्य गुरू, शुक्र, शनि, बुध और चंद्रमा का शट्ग्रही योग बन जाएगा, जो 11 फरवरी को रात 2 बजकर 10 मिनट पर चंद्रमा मकर राशि से निकलकर कुम्भ  में प्रवेश करेंगे।

मेदिनी ज्योतिष के अनुसार सूर्य, गुरु, शनि, चंद्रमा, बुध व शुक्र आदि ग्रह जब एक राशि में आ जाए तो रोग शाेक,युद्ध या बडे़ जनआंदोलन जैसी स्थितियां पैदा होती है। वर्ष 2020 से 2021 अधिक खतरनाक होगा। शारीरिक,आर्थिक संकट आएगा। प्राकृतिक आपदा, बडे़ राजनीतिक बदलाव के संकेत मिल रहे हैं।

इतिहास … 1962 के फरवरी माह में मकर राशि में 8 ग्रहों की युति हुई तब महाशक्तियां अमेरिका और तत्कालीन सोवियत रूस, क्यूबा मिसाइल संकट में उलझ गए थे। जिससे दशकाें तक शीत युद्ध की स्थिति बनी रही। भारत- चीन युद्ध हुआ। वर्ष 1979 के सितंबर में सिंह राशि में 5 ग्रहों के योग ने ईरान में इस्लामिक क्रांति ने उथल पुथल मचा दी।

अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत में आतंकवाद का प्रसार हुआ। 26 दिसंबर 2019 को सुर्य ग्रहण के दिन धनु राशि में सूर्य, बुध, गुरु, शनि, केतु और चंद्रमा एक साथ आए थे, जिससे शट्ग्रही योग बना था। इसके चलते कोरोना वायरस महामारी और आर्थिक मंदी का सामना करना पडा।

2021 ग्रह स्थिति के आधार पर शेयर बाजार 50,000 अंक रिकाॅर्ड तोड़ उच्च स्तर पर होगा। नेशनल स्टाॅक 15,000 के उपर बंद होगा। सोना चांदी ओर पेट्रोल डीजल के भाव बढेंगे।  सभार 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here