Indore News: पेट्रोल डीजल के कीमतों के बढ़ते दाम से चार लोगों के परिवार पर दो हजार का खर्च बढ़ा

0
287
लोकल इंदौर 5मार्च । पेट्रोल और डीजल के लगातार बढ़ रहे भावों में हर परिवार के रसोईघर का बजट बुरी तरह बिगाड़ दिया है। खान-पान से लेकर अन्य सामान जो ट्रकों के माध्यम से इंदौर पहुंचता था, उसमें तीस प्रतिशत तक की वृद्धि पिछले एक सप्ताह में दर्ज की गई है।इसके कारण चार व्यक्तियों के एक परिवार को दो हजार रुपए तक अतिरिक्त खर्च करना पद रहे है .
कारोबारी भी कह रहे हैं कि यदि पांच रुपए भी डीजल में और वृद्धि हुई तो कीमतों में चालीस प्रतिशत की वृद्धि का रिकार्ड दर्ज होगा इस समय सोयाबीन का खेरची 135 से 140 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गया है, वहीं सरसों के तेल ने इतिहास रच दिया है। 155 रुपए तक बाजार में अलग अलगबिक रहा है खाने-पीने के सामान में अच्छी-खासी वृद्धि फिलहाल बनी रहेगी जब तक डीजल के भाव कम नहीं होते हैं।
शाहर में हजारों  ट्रको  अब  खड़े  होना शुरू हो गए हैं, क्योंकि किराए- भाड़े की रेकार्ड वृद्धि के चलते वाहर से आने वाले माल की आवक वेहद कम हो गई है। इसी के चलते टुकों मे अतिरिक्त लोड भरकर चलाया जा रहा था। अब वह भी घाटे को पूरा नहीं कर पा.रहा है। शहर में दूध, चाय की पत्ती से लेकर दाल ड्राय फूड भी महंगे हो गए हैं। जहां 85 रुपए लीटर सोयाबीन का तेल था, वह एक सौ चालीस रुपए के लगभग पहुंच गया है। तुअर दाल भी एक सो  दस रुपए किलो हो गई है। अन्य दालों में भी भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है इसके अलावा लॉंग, इलायची सहित ड्राय फूड की आवक कम हो गई है और जो आ रहा है, उसमें भी 50-60 रुपए केवल किराए-भाड़े के कारण ज्यादा देना पड़ रहा है।
आवक कम बढ़े भाव 
शहर में सियागंज के थोक व्यापारी का कहना है कि लॉकडाउन में जहां सोया तेल 85 रुपए लीटर था, वहीँ अब 130 रुपए लीटर हो गया है। तुअर दाल 85 से 120 रुपए प्रति किलो, मुंग 85 से 95, मसूर 65 से 85, चना दाल 55 से 65. सरसों तेल 1850 से 2200 प्रति 15 किलो, शकर 32 से 37 रुपए प्रति किलो। चाय पत्ती 170 से 270 रुपए प्रति किलो, लौंग 380से 5o0 रुपए, हरी इलायची 1600 से 2200 सी रुपए।चावल 10 से 25 रुपए प्रति किलो बढ़े। बादाम 460 से 540 रुपए काजू 490 से 640 रुपए तक हो गए। मखाना 450 से 670, खोपरागोला 135 से 170 रुपए,
वहीं खोपरा बूरा 140 से. 170 रुपए के भाव विक रहे है ।
दो हजार रुपए तक अतिरिक्त भार
वहीं दूसरी ओर किराना कारोवारियों  कहना है कि डीजल के भाव यदि इसी स्थिति में बढ़ते रहे तो चालीस प्रतिशत तक महंगाई चढ़ जाएगी। इसके चलते चार व्यक्तियों के एक परिवार को दो हजार रुपए तक अतिरिक्त भार उठाना पड़ेगा।
जविष्य में भी किराना सामान के भाव फूटकर  में और अधिक बढ़ते हुए दिखाई देंगे .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here