Indore: पांच  हजार से ज्यादा लडकियों को देह व्यापार में धकलने वाले युवक बँगलादेशी निकला

इंदौर पुलिस ने मुंबई पुलिस के साथ रैकी कर पकड़ा

0
1424

लोकल इंदौर २४ नवम्बरl  पांच  हजार से ज्यादा लडकियों को देह व्यापार में धकलने वाले  युवक का असली नाम मोमिन निकला और वह बंगलादेश का रहने वाला है lउस के एजेंट्स का जाल केवल मध्य प्रदेश  के शहरों में ही नहीं बल्कि देश के कई बड़े शहरों में भी फैला है l

आज एक पत्रकार वार्ता में पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस द्वारा दिनांक 15.11.2021 को विजयनगर स्थित एक होटल पर दबिश देकर 6 युवक व 5 युवतियों को देह व्यापार में गिरफ्तार किया गया था जिनसे पूछताछ पर जानकारी मिली की जेल में बन्द एजेन्टों के साथी प्रदीप जोशी और सोनू ठाकुर द्वारा मुम्बई के विजय दत्त और बबलु, इंदौर के उज्जवल ठाकुर , दिलिप बाबा , प्रमोद पाटीदार , नेहा , रजनी के साथ मिलकर बाग्लादेशी युवतियों से देह व्यापार करवा रहे है। उपरोक्त दोनों मामलो में विजय दत्त , उज्जवल ठाकुर एवं बबलु का नाम आ रहा था।पुलिस की कार्रवाई में विजय  नाम के युवक का जिक्र  बार-बार आ रहा था, लेकिन पुलिस के पास न तो इसका  फोटो था, न ही कोई और जानकारी।

  Indore: पांच हजार लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने वाला इंदौर में पकड़ाया    

इंदौर पुलिस ने मुंबई पुलिस के साथ रैकी कर पकड़ा विजय दत्त को। हालांकि यह उसका अलसी नाम मोमिन है। मोमिन मूल रूप से बाबना जिला रसई, बांग्लादेश का रहने वाला है और वह कई बार भारत आता जाता रहा है। वह शादीशुदा है और दो बच्चे हैं। 25 साल पहले वह भारत आया था और स्थानीय व्यक्ति की मदद से उसने विजय दत्त के नाम से राशन कार्ड बनवाया था। इस राशन कार्ड को दिखाकर उसने आधार कार्ड और वोटर कार्ड बनवा लिया था।

सहयोगी भी पकड़ाए                                         उसके साथ उसकी महिला सहयोगी जो बाग्लादेश से लडकियो को लाने वाली तथा उन्हे देह व्यापार हेतु विवश करने वाली आकीजा पिता माणीक शेख निवासी बाग्लादेश , दीपा शेख पिता तोसिफ मुल्ला शेख निवासी बांग्लादेश को गिरफ्तार किया गया आरोपी विजय उर्फ मामुन के साथ रहने वाले गैंग के एजेन्ट उज्जवल पिता अवधेश प्रसाद निवासी कालिन्दी गोल्ड बाणगंगा इंदौर तथा एनजीओ चलाने वाली उसकी पत्नि तथा देह व्यापार मे उसकी साथ देने वाली नेहा उर्फ निशा तथा उसकी साथी रजनी वर्मा निवासी एम आई जी इंदौर में बाग्लादेशी लडकियो को देह व्यापार हेतु इधर उधर भेजने वाले दिलिप बाबा पिता द्वारका दास सावलानी निवासी स्कीम न. 78 लसुडिया इंदौर को भी गिरफ्तार किया गया। विजय उर्फ मामुन दत्य का एजेन्ट जो बाग्लादेश की युवतियो को निमाड , धार , पीथमपुर उसे भी इसके साथ गिरफ्तार किया गया। आरोपी बबलु उर्फ पलास सरकार निवासी नालासुपारा मुम्बई जो अपनी पत्नि के सहयोग से बाग्लादेश से युवतियाँ लाकर देह व्यापार करवाता है। को भी गिरफ्तार किया गया।

हवाला से लेनदेन

गिरोह का मुख्य सरगना (विजय दत्त उर्फ मामुन) यह बीच बीच में बाग्लादेश जाता रहता है एवं हुण्डी एवं हवाला के माध्यम से पैसे भेजता है। बांग्लादेश बार्डर में एवं मुम्बई , सूरत , अहमदाबाद आदि बडे शहरो में एसे हुण्डी एवं हवाला के जो कारोबारी सक्रिय हैं, उनके संबंध में पूछताछ की जा रही है।

लड़कियों को देते थे ड्रग

इन लडकियों को दिन में 6 से 7 ग्राहक से संबंध बनाने के लिये विवश किया जाता है तथा इनकी क्षमता बढाने के लिये ड्रग्स की लत लगाई जाती है और मना करने पर एजेन्टो के द्वारा प्रताडित किया जाता है। यह लकडियाँ पुलिस के पास अपनी शिकायत लेकर नही आती क्योंकि एजेन्टो के द्वारा इतना डराया जाता है कि तुम यदि पुलिस के पास गई तो जेल भेज दिया जायेगा तुम बांग्लादेशी हो तुम्हारे पास वैध दस्तावेज नही है इसलिये ये चुपचाप शोषण सहन करती है। इन्हे काम के बदले मुसकिल से 500-600 रु मिलते है बाकी सारा पैसा दलाल रख लेते

प्रदेश सहित देश में कई जगह फैला है नेटवर्क

सिंडिकेट का नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, खरगोन, राजगढ़, खंडवा जैसी जगहों पर फैला हुई है। सभी जगह इन्होंने अपने एजेंट बना रखे हैं। मुंबई से यह लोग बांग्लादेशी लड़कियों को इन जगहों तक पहुंचाते थे और यह एजेंट इन्हें आगे भेजा जाता था। इसके अलावा यह सिंडिकेट मुंबई, पुणे, सूरत, अहमदाबाद जैसे बड़े शहरों में भी एजेंट बने हुए हैं।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here