Indore Trade: कोरोना के कारण इंदौर में शिवरात्रि पर साबूदाना की बिक्री में नहीं आया उठाव

0
92

लोकल इंदौर 11 मार्च। इंदौर में महाशिवरात्रि के अवसर पर साबूदाने का व्यापार करने वाले व्यापारी अपने अनुमान के अनुसार इस बार व्यापार नहीं होने से दुखी हैं।सूत्रों के मुताबिक इस बार बीते साल की तुलना में  साबूदाने के कारोबार में 40 फीसदी  की गिरावट आंकी गई है। जब कि गत वर्ष की तुलना में कीमतें भी भरपूर फसल के कारण इस साल कम ही है।

इंदौर के सियागंज के व्यापारियों की माने तो  कोरोना के चलते वैसी मांग बाजार में नही है जैसे उन्होंने आशा की थी। हर वर्ष की तरह थोक व्यापारियों ने साबूदाना का स्टॉक कर लिया था। मगर कोरोना के चलते शहर में जगह जगह होने वाले खिचड़ी वितरण के आयोजनों को प्रशासन की अनुमति नही मिलने से माल में उठाव नही आया। अनुमान है कि गत वर्ष की तुलना में 40 फीसदी बिक्री कम रही।

इस बार दाम भी कम  हर साल शिवरात्रि पर साबूदाने का रेट ज्यादा होने के बाद भी बिक्री में 10 से 15 प्रतिशत की बढ़ोतरी होती थी। इस बार बिक्री में बढ़ोत्तरी होने की जगह40 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है।
जबकि हर साल की तुलना इस में साल साबूदाने के रेट में भी गिरावट आई है। पिछले साल जहां साबुदाना
लूज का रेट 52- 55 रुपए किलो था वहीं इस साल साबूदाना लूज का रेट 48 से 50 रुपये  हैं।

सेलम-इदौर की सच्चासाबु , सच्चामोती तथा चक्र एगमार्क साबुदाना निर्माता कम्पनी साबु ट्रेड के प्रबँध निर्देशक श्री गोपाल साबु ने लोकल इंदौर को बताया कि ये सही है कि जैसी व्यापारियों को आशा थी वैसी बिक्री शिवरात्रि पर नही हुई मगर साबूदाना की मांग बरकरार है। बिक्री आशा अनुरूप नही होने के पीछे कोरोना संक्रमरण का कारण भी है। जिसके कारण शहर में अनेक स्थानों पर होने वाले खिचड़ी वितरण का न हो पाना भी है , किंतु घरों में आज भी शिवभक्त उपवास में अपने वर्षों से परीक्षित मनपसंद साबुदाना का विश्वास से उपयोग कर ही रहे हैं…

 

 

                                                                                                    लि

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here