इंदौर में PM मोदी के फोटो को खिलाई मिठाई और मुस्लिम महिलाओं ने ली सेल्फी

0
250

लोकल इंदौर ३१ जुलाई . इंदौर में भी मुस्लिम महिलाओं ने आज भाजपा दफ्तर में जश्न मनाया। उन्होंने मोदी के चित्र को मिठाई खिलाई  और उनके फोटो के साथ और सेल्फी भी ली ।संसद में तीन तलाक यानी तलाक-ए-बिद्दत काे अपराध मानने वाला मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2019 संसद में पास होने के बाद आज भाजपा दफ्तर में जश्न मनाने पहुंची महिलाओं का कहना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुस्लिम महिलाओं की पीड़ा को देखते हुए इस बिल को पास करवाया है।

जाहिदा मंसूरी ने कहा – हम सब इस ऐतिहासिक फैसले पर जश्न मना रहे हैं। अब तक हमारी बहन-बेटियों का भविष्य अंधकार में था। हमें उम्मीद है कि अब इस शख्त कानून के बाद हमारे बच्चे अनाथ होने से बचेंगे। बहू-बेटियां सभी इस फैसले से खुश हैं। हम सब ने मोदी जी को मिठाई खिलाई और उनके इस फैसले का स्वागत किया। हम आशा करते हैं कि हमारे

प्रधानमंत्री जी हमारे साथ हैं और हम सभी देश के साथ हैं। मैं ऐसी महिलाओं के लिए काम कर रही हूं, पति का साथ छूटने के बाद कई बार महिलांए आत्महत्या के लिए मजूबर हो जाती हैं। जो पढ़ी-लिखी नहीं होतीं उनके समक्ष बच्चों को पालने की समस्या खड़ी हो जाती है। कई बार वे दर-दर भटकने को मजबूर हो जाती हैं।

1978 से शुरू हुई थी इंदौर से ये लड़ाई :शाहबानो लड़ाई जीत कर भी हार गई थीं
उल्इंलेखनीय है कि इंदौर की रहने वाली पांच बच्चों की मां शाहबानो को उसके पति मोहम्मद खान ने 1978 में तलाक दे दिया था। शाहबानो ने भरण-पोषण भत्ते के लिए सात साल तक कोर्ट में लड़ाई लड़ी और जीती। सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पर्सनल लॉ से हटकर शाहबानो को गुजारा भत्ता देने का आदेश दिया, लेकिन देशभर में मुस्लिमों ने प्रदर्शन कर इसे इस्लाम पर हमला बताया। राजीव गांधी की तत्कालीन सरकार ने संसद में कानून बनाकर, सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलट दिया। शाहबानो जीतकर भी हार गई। मंगलवार को उसी संसद ने तलाक-ए-बिद्दत काे अपराध बनाने वाला विधेयक पास कर दिया।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here