इन्दौर में रेयरेस्ट ऑफ द रेयर सर्जरी केस,नाक के पीछे फंसे टूथपेस्ट के ढक्कन को निकाला

0
374

लोकल इंदौर 18 जून।इंदौर में एक डॉ ने एक रेयर सर्जरी कर एक बालिका के नाक के पीछे फंसे टूथपेस्ट के ढक्कन को निकालकर दी नई जिंदगी देेने के साथ एक  नई मिशाल पेेेश की।

कल्पना कीजिए यदि टूथपेस्ट का ये ढक्कन किसी दो साल के मासूम बच्चे की नाक के पीछे जाकर नाक और गले के बीच में फंस जाए और 4 महीने तक पता ना चले, सिटी स्केन और MRI में भी इसका खुलासा ना हो तो उस मासूम का क्या हाल होगा ?

कल पूरे देश में डॉक्टर हड़ताल पर थे लेकिन प्रदेश के वरिष्ठ ENT सर्जन डॉ गुणवंत यशलहा ने हड़ताल के बीच इंसानियत और अपने प्रोफेशन की उच्च स्तरीय मिसाल पेश कर इस जानलेवा पीड़ा से गुजर रही एक मासूम लड़की को नई जिंदगी दी।

इस बच्ची को सांस लेने में जानलेवा तकलीफ थी।4 महीने से बड़े बड़े शहरों में बड़े बड़े अस्पताल और डॉक्टर्स को उन्होंने दिखाया लेकिन वे इसका मर्ज समझ नहीं पा रहे थे।

उन्होंने MRI, X RAY और सिटी स्केन करवाया लेकिन हर बार रिपोर्ट नार्मल आती और तकलीफ बढ़ती जाती थी।कल इसके माता-पिता ने डा गुणवंत यशलहा से संपर्क किया। हड़ताल के कारण वरिष्ठ डॉक्टर्स को इसकी सूचना देकर उन्होंने इसका परीक्षण किया। सारी रिपोर्ट्स नार्मल थी पर बच्ची असहनीय पीड़ा से गुजर रही थी।

ऐसे में उन्होंने खुद अपने सामने सिटी स्केन करवाया। सिटी स्केन टेक्नीशियन को नाक और गले के बीच फोकस करने का कहा तो स्क्रीन पर जो नजर आया उसे देख सब हैरान रह गए। वहां एक ढक्कन फंसा था।

ये बेहद असामान्य मामला था। सर्जरी की तैयारी की गई और आज करीब दो घंटे तक चली बेहद जटिल सर्जिकल प्रोसेस के बाद बच्ची के नाक और गले के बीच फंसे इस ढक्कन को निकालकर डॉ गुणवंत यशलहा ने बच्ची को एक नई जिंदगी दी।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here