इंदौर में प्लास्टिक मुक्त विद्यालय ..एक और गौरव

0
234

लोकल इंदौर  २ अक्टूबर  | स्वच्छता में लगातार अव्वल रहने के बाद इंदौर ने एक बार फिर प्रदेश और देश में अपना नाम रोशन किया है। इंदौर के शासकीय माध्यमिक विद्यालय शिवाजी नगर को प्रदेश का पहला प्लास्टिक मुक्त विद्यालय बनने का गौरव प्राप्त हुआ है। 18  वर्षो से कार्यरत समाज सेवी संस्था ” प्रयास ” इस   प्रायमरी विद्यालय को पूर्णतः प्लास्टिक मुक्त किया गया है .इसकी घोषणा आज इंदौर के रविन्द्र नाट्य गृह में आयोजित विशाल कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंहजिले के प्रभारी तथा गृह मंत्री श्री बाला बच्चन और स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट की उपस्थिति में की गई।

  समाज सेवी संस्था ” प्रयास ” की  सचिव पूजा दवे ने बताया की संस्था पूरे देशभर में कार्य करती है | हमारा उदेश्य समाज के हर नागरिक  को सक्षम और सफल बनाना है | हम शिक्षा ,महिला उद्धार ,बाल विवाह को रोकना तथा हाइजीन से जुड़े समस्याओँ का समाधान करना है ,संस्था समय समय पर ट्राइबल आर्ट को बढ़ावा देने के लिए वर्कशॉप का आयोजन भी करती है |
प्लास्टिक मुक्त पहला विद्यालय– प्लास्टिक मुक्त भारत  के सपने को साकार करने के लिए हाल ही में हमने मालवा मिल के निकट शिवाजी नगर के प्रायमरी स्कुल को पूर्णतः प्लास्टिक मुक्त किया गया है स्कुल की सभी प्लास्टिक की चीजों  जैसे शार्पनर ,प्लास्टिक की कुर्सी,दीवाल घड़ी ,बॉटल,टिफ़िन  की जगह मेटल और लकड़ी की चीजों को स्थान दिया गया है |
पूजा दवे ने बताया की अब हर रविवार को हम आम जनता  के बीच जायेगे ,पहली कड़ी में इस रविवार हम लोगो से प्लास्टिक का ब्रश के स्थान पर लकड़ी के ब्रश का उपयोग करने का निवेदन करेंगे | उसके अगले रविवार  उनसे निवेदन करेंगे की वे कपडे की थैली का प्रयोग करे | हर रविवार नये नये उदेश के साथ जनता से अनुरोध करेंगे |
  कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव द्वारा की गई घोषणा –
कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव ने इस कार्य में लगी  स्वयंसेवी संस्था प्रयास की भी सराहना की। कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव ने विद्यालय के बच्चों से चर्चा कर उनके द्वारा प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने के बारे में जानकारी ली। बच्चों ने बताया कि अब हम स्कूल में पानी के लिये प्लास्टिक की बोतल नहीं लाते हैं। प्लास्टिक के कम्पास की जगह हम अन्य सामग्री से बने कम्पास का उपयोग कर रहे हैं। सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के उपयोग से मुक्त करने के लिये स्कूल में बाल केबिनेट भी बनायी गई है। बच्चों ने कहा कि हम अपने परिजनों को भी सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के उपयोग को कम करने के लिये प्रेरित कर रहे हैं।
बताया गया कि इस स्कूल में प्लास्टिक मुक्त अभियान के तहत प्लास्टिक की बनी सभी सामग्रियों को अन्य सामग्रियों में बदला गया है। इनमें प्रमुख रूप से कुर्सियां, डस्टबीन, बाल्टी, पानी की टंकी, फाइल फोल्डर, कम्पास बॉक्स, बच्चों के खिलौने, बाथरूम मग, लंच बॉक्स, पानी की बोतल, स्लेट, टाटपट्टी, स्केल, किचन सामग्री, बर्तन का टब, कचरा साफ करने की सुफड़ी, दीवार घड़ी आदि शामिल हैं। इस अवसर पर बच्चों ने स्वच्छता पर आधारित नृत्य की प्रस्तुति भी दी। कलेक्टर श्री जाटव और श्रीमती मीना ने समीप बने आँगनवाड़ी केन्द्र का निरीक्षण भी किया |
लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here