तेलंगाना का परिवार मूक बधिर गीता से मिलने शुक्रवार को इंदौर आयेगा

0
289

लोकल इंदौर 24 दिसंबर, (श्याम यादव) ।   भूल  से  पाकिस्तान की सीमा में पहुंची भारत की  मूक बधिर बेटी गीता  से शुक्रवार को मिलने तेलंगाना का एक परिवार  इंदौर आ रहा है।  उल्लेखनीय है कि गीता को पाकिस्तान से लाने के बाद इंदौर के एनजीओ में रखा जा  उसके माता पिता  ढूढ़ने की जवाबदारी सौंपी गयी थी।

उल्लेखनीय है कि गीता को देश की पूर्व विदेश राज्य मंत्री सुषमा स्वराज की पहल पर पाकिस्तान से भारत लाया गया था।  यहां यह भी उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के एक एनजीओ ईदी   फाउंडेशन में रह रही  गीता को  खोजने में आनंद सोसाइटी के  मूक बधिर कौंसलर ज्ञानेंद्र पुरोहित और उनकी पत्नी मोनिका पुरोहित गीता को खोजने में महत्व पूर्ण भूमिका निभाही थी।   उसके  बाद ही पूर्व विदेश राज्य मंत्री सुषमा स्वराज की पहल पर  लाया गया था। सुषमा स्वराज  गीता को दत्तक पुत्री माना था।

ज्ञानेंद्र  पुरोहित  गीता के बताये  अनुसार हाल ही में तेलंगाना गए थे  उसके बाद पेड़ापल्ली  एक परिवार गीता  को  अपनी बेटी बता रहा है और शुक्रवार को वह इंदौर की आनंद सोसाइटी में गीता से मिलने आ रहा है।

जानकारी के अनुसार कलवासीरामपुर मंडल के थारुपल्ली के  बोल्ली स्वामी  और उनके चचेरे भाई  श्याम  का मानना है कि गीता कोई और नहीं बल्कि उनकी  वही बेटी है जो 20 साल पहले लापता हो गई थी। इसीलिए दोनों कल सुबह इंदौर गीता से मिलने आ रहे है।  यदि गीता उन्हें पहचान  लेती है और यह साबित हो जाता कि गीता  उन्हीं  पुत्री  है तो  गीता को  वैधानिक कार्यवाही कर उन्हें सुपुर्द किया जा सकेगा।  इसके पहले भी अनेक परिवार गीता को अपनी बेटी होने  दावा कर  चुके है मगर गीता ने उन्हें पहचाने से इंकार कर दिया  था। 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here