जबरदस्ती जुलूस निकालने पर धार में तनाव

हल्का लाठीचार्ज करके पुलिस ने स्थिति को काबू में किया

0
830

लोकल इंदौर , धार १९ अक्टूबर : धार शहर में किसी जुलूस या धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं दी गई थी। इसके बावजूद ईद ए मिलादुन्नबी पर धार में बड़ी संख्या में इकट्ठे होकर जुलूस निकाला गया। पुलिस के रोकने पर तनाव हो गया। इसके बाद भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस को हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा। जवाब में कुछ हिंदूवादी युवकों ने विरोध स्वरुप पिपली बाजार में जुलूस निकाला। इस बारे में धार के एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने कहा कि कुछ शरारती तत्वों ने जबरन जुलूस निकालकर गड़बड़ी करने की कोशिश की है। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
जानकारी के मुताबिक, भाजी बाजार से जुलूस निकालना शुरू किया गया। इन्हें रोका गया तो उन्होंने विवाद किया और हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस के लगाए बैरिकेड्स गिरा दिए और बहस की। पुलिस और जुलूस में शामिल लोगों के बीच झड़प होने के भी समाचार हैं। बाद में भीड़ ने पुलिस पर पत्थर फेंकना शुरू किए। पुलिस ने पहले मामले को संभालने की कोशिश की, लेकिन उपद्रव बढ़ा तो भीड़ को लाठियों से खदेड़ दिया।
जानकारी में बताया गया कि मंगलवार को ईद मिलादुन्नबी के मौके पर कुछ लोग जुलूस निकालने के लिए गुलमोहर कॉलोनी में जुटे थे। करीब डेढ़ से दो हज़ार लोग जुलूस के रूप में बस स्टैंड होते हुए धान मंडी पहुंचे। जिन क्षेत्रों से होकर जुलूस निकला, वहां से भी लोग शामिल होते गए। जुलूस जब पिंजारवाड़ी क्षेत्र में पहुंचा, तो वहां पुलिस ने पहले से प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर बैरिकेड्स लगा रखा था। यहां जुलूस में शामिल कुछ लोगों ने बैरिकेड्स फांदने की कोशिश की। जवानों ने रोका तो उन्होंने धक्का-मुक्की कर नारेबाजी शुरू कर दी।

क्या प्रियंका गांधी बन सकती हैं भारत की प्रधानमंत्री ? जानें क्या कहती है कुंडली
एडीएम सलोनी सिडाना व एडीशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार ने शांतिपूर्वक जुलूस को आगे बढ़ाने को कहा। लेकिन, कुछ लोग नहीं माने और बैरिकेड्स फांदकर प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसने की कोशिश की। इस पर पुलिस ने बल प्रयोग किया। जुलूस में शामिल कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने भी हालात को संभालने के लिए लाठियां भांगी तब जाकर पत्थरबाजी बंद हुई। फिर जुलूस मोहन टॉकीज होते हुए राजबाड़ा, नालछा दरवाजा होते हुए बस स्टैंड पहुंचा। इस दौरान नारेबाजी होती रही, हालांकि किसी प्रकार का उपद्रव नहीं हुआ। एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने मीडिया को बताया कि पुलिस ने लाठीचार्ज नहीं किया, बल्कि जुलूस में शामिल शरारती तत्वों पर काबू करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया है।

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here