ये है दिपावली  का लक्ष्मी पूजन मुहूर्त…!विधि और वास्तु उपाय

0
222

दिपावली  पर लक्ष्मी जी की विशेष पूजा की जाती है. लक्ष्मी जी को सुख-समृद्धि की देवी कहा गया है. जीवन में जब लक्ष्मी जी कृपा प्राप्त होती है तो व्यक्ति का जीवन में संपन्नता आती है. लक्ष्मी जी को धन की देवी माना गया है. कलियुग में धन को एक प्रमुख साधन माना गया है.हिंदू कैंलेडर के अनुसार इस वर्ष कार्तिक अमावस्या आज 4 नवंबर 2021  आज है  . इस दिन चंद्रमा का गोचर तुला राशि में होगा.

दिपावली 2021, शुभ मुहूर्त                                                                                                दिपावली  पर्व: 4 नवंबर, 2021, गुरुवार
अमावस्या तिथि का प्रारम्भ: 4 नवंबर 2021 को प्रात: 06:03 बजे से.
अमावस्या तिथि का समापन: 5 नवंबर 2021 को प्रात: 02:44 बजे तक.                                                   लक्ष्मी पूजन मुहूर्त
4 नवंबर 2021, गुरुवार, शाम 06 बजकर 09 मिनट से रात्रि 08 बजकर 20 मिनट
अवधि: 1 घंटे 55 मिनट
प्रदोष काल: 17:34:09 से 20:10:27 तक
वृषभ काल: 18:10:29 से 20:06:20 तक                                                                                दिपावली पर लक्ष्मी पूजन की विधि
दिपावली  पर लक्ष्मी पूजन से पूर्व स्थान को शुद्ध और पवित्र करें. इसके बाद कलश को तिलक लगाकर स्थापित करें. कलश पूजन करें. हाथ में फूल, अक्षत और जल लेकर लक्ष्मी जी का ध्यान लगाएं. इसके बाद सभी चीजों को कलश पर चढ़ा दें. इसे पश्चात श्रीगणेश जी और लक्ष्मी जी पर भी पुष्प और अक्षत अर्पित चढ़ाएं. इसके उपरांत लक्ष्मी जी और गणेशजी की प्रतिमा को थाली में रखकर दूध, दही, शहद, तुलसी और गंगाजल के मिश्रण से स्नान कराएं. बाद में स्वच्छ जल से स्नान कराएं. इसके बाद लक्ष्मी जी और गणेशजी की मूर्ति को पुनः चौकी पर स्थापित करें. लक्ष्मी जी और गणेश जी को चंदन का तिलक लगाएं और पुष्प माला पहनाएं. खील-खिलौने, बताशे, मिष्ठान, फल, रुपये और स्वर्ण आभूषण रखें. इसके बाद गणेश जी और लक्ष्मी जी की कथा पढ़ें, आरती करें. पूजा समाप्त करने बाद प्रसाद वितरित करें. जरूरतमंद व्यक्तियों को दान दें.

दीपावली के दिन अपनाएं ये वास्तु उपाय,

1-दिपावली  के दिन लक्ष्मी-गणेश की पूजा उत्तर या उत्तर-पूर्व दिशा में ही करनी चाहिए। साथ ही पूजा करते समय पीले या लाल रंग के वस्त्र पहनें, ऐसा करने से मां लक्ष्मी शीघ्र प्रसन्न होती हैं।

2- लक्ष्मी जी की प्राप्ति के लिए दीपावली के दिन घर के ईशान कोण में एक चांदी, तांबा या स्टील के बर्तन में पानी भरकर रख दें। इस पानी को यम द्वितिया के दिन तुलसी जी चढ़ाने से धन और वैभव की प्राप्ति होती है।

3- दीपावली के दिन पूजा के समय अपनी तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा में करके खोल दें और तिजोरी के दरवाजे पर घी और सिंदूर से स्वास्तिक का निशान बनाएं। धन-धान्य में वृद्धि होगी।

4- दीपावली के दिन सोने-चांदी के गहने और सिक्कों को हल्दी और केसर का तिलक लगा कर लाल रंग के कपड़े में बांध के रखें। घर में सौभाग्य का आगमन होगा।

5- दिपावली के दिन घर में मिट्टी के दिए जलायें, ऐसा करने से घर का वास्तु दोष दूर होता है। दीपावली पर दीये लगाते समय उनकी संख्या 11, 21, 31 होनी चाहिए, इन्हें शुभ माना जाता है।

6- दीपावली पर घर में सुख और सौभाग्य के आगमन के लिए मुख्य दरवाजे पर रंगोली बनानी चाहिए। रंगोली में स्वास्तिक, ऊँ, लक्ष्मी चरण, गणेश जी, कमल का फूल, मोर आदि की आकृति बनानी चाहिए

गुरु महेश जैन
इंटरनेशनल ज्योतिषाचार्य राणापुर
जिला झाबुआ मध्यप्रदेश
मो.7000098868 . 9425188009

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here