गुरु का गोचर : आज रात्रि करेंगे राशि परिवर्तन : देखे १२ राशियों पर क्या प्रभाव पड़ने जा रहा है !

0
5348

गुरु का गोचर मनुष्य को अपने जीवन में की उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ता है, जिनका सीधा संबंध ग्रहों के साथ देखा गया है। ज्योतिष शस्त्र के अनुसार मानव जीवन में होने वाली हर हलचल ब्रह्मांड के 9 ग्रहों पर आधारित है। कुंडली में कौन सा ग्रह कइस स्थिति और दशा में विराजमान है ये बात आपके जीवन की घटनाओं पर अपना गहरा प्रभाव डालती हैं।

ग्रहों का गोचर

ये 9 ग्रह समय-समय पर अपना गोचर करते रहते हैं, एक निश्चित अवधि के बाद ये अपनी राशि परिवरित कर दूसरी राशि में पहुँच जाते है, इस घटना को ज्योतिषशास्त्र के अंतर्गत काफी अहम माना गया है। आगामी 20 नवंबर, 2021 को रात 11 बजकर 37 मिनट पर देवगुरु माने जाने वाले बृहस्पति ग्रह अपनी राशि बदलकर कुंभ में प्रवेश करने जा रहे है, यह गोचर धनिष्ठा नक्षत्र के तीसरे यानि अंतिम चरण में होने जा रहा है। विशेषज्ञ इस घटना को काफी अहम और शुभ मानकर चल रहे हैं। आपकी राशि पर इस ग्रहीय परिवर्तन का क्या प्रभाव पड़ने जा रहा है आइए जानते हैं।

मेष राशि                                                                                                                            वे जातक जिनका संबंध मेष राशि से है उनके लिए गुरु का यह गोचर ग्यारहवें भाव को प्रभावित करने वाला साबित होने जा रहा है। आप इस परिवर्तन को काफी हद तक अपने लिए शुभ मानकर चल सकते हैं। मेष राशि के नवविवाहित जातक जो संतान की इच्छा रखते हैं, उनकी यह इच्छा इस गोचर की अवधि में पूरी हो सकती है। विद्यार्थी जन अगर उच्च शिक्षा प्राप्ति का प्रयस कर रहे हैं तो उन्हें सफलता मिल सकती है। इसके अलावा परिवार में कोई धार्मिक कार्यक्रम भी संभव है।वृषभ राशि                                                                                                                       वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का यह गोचरदसवें भाव से संबंध रखने वाला है। इस ग्रहीय परिवर्तन के प्रभाव से जमीन-जायदाद से जुड़े कुछ मामले अटके हुए हैं तो जल्द ही आप उनका निपटारा कर पाने में सफल होंगे। सामाजिक कार्यों में इस दौरान आप काफी व्यय करने के मूड में रहेंगे… परिणामस्वरूप आपकी सामाजिक मान-प्रतिष्ठा को बढ़ेगी लेकिन आर्थिक स्थिति पहले की अपेक्षा कमजोर हो सकती है।                                                                  मिथुन राशि                                                                                                                        मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का यह गोचर नौंवे भाव में होने वाला है… जिसके परिणामस्वरूप वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे लोगों के अपने जीवनसाथी के साथ संबंध बेहतर होंगे…साथ ही उनके मान-सम्मान में भी वृद्धि होगी। इस अवधि में किसी धार्मिक यात्रा पर जाने के योग बनेंगे। छात्रों को पढ़ाई के सिलसिले में घर से दूर जाना पड़ सकता है

Indore :कल इंदौर को पांचवीं बार मिल सकता है नंबर वन का खिताब !                                                                                                                    कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए गुरु का यह गोचर आठवें भाव में होने जा रहा है जिसके चलते आपको भाग्य हर स्थिति में आपके साथ रहने वाला है। अगर अप अपनी संतान को लेकर चिंतित हैं तो उन सभी समस्याओं का समाधान होगा,… परंतु आपके लिए पिता के लिए यह समय सही नहीं है। घर-परिवार और समाज में आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी… लेकिन इसके बावजूद दांपत्य जीवन में उतार-चढ़ाव बरकरार रहेगा।

सिंह राशि

जिन जातकों का संबंध सिंह राशि से है उनक लिए गुरु का यह गोचर सातवें भाव को प्रभावित करने वाला साबित होगा। इस गोचर के परिणामस्वरूप आपकी लव लाइफ काफी बेहतरीन रहने वाली है। इस दौरान आपकी आमदनी में भी लगातार बढ़ोतरी हो सकती है, साथ ही स्वास्थ्य के लिहाज से भी यह समय उत्तम सबित होगा। जो जातक प्रेम विवाह करने का विचार कर रहे हैं उनके लिए समय अनुकूल है।

कन्या राशि

गोचर के बाद देवगुरु, कन्या राशि के जातकों के छठे भाव में विराजमान रहेंगे। वे जातक जो किसी भी तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उनके लिए यह समय उत्तम साबित होगा। इस दौरान आपका वैवाहिक जीवन अनुकूल नहीं रहेगा… आप दोनों के बीच कुछ परेशानियां जन्म ले सकती हैं जिनका निपटारा आपको अवश्य कर लेना चाहिए। इस अवधि में आपके खर्च काफी बढ़ जाएंगे… स्वयं पर नियंत्रण रखकर ही चलें।

तुला राशि

यह गोचर तुला राशि के अविवाहट और सिंगल लोगों के जीवन में किसी खास व्यक्ति की एंट्री करवा सकता है… पंचम भाव में गुरु के प्रवेश के कारण तुला राशि के जातकों का वैवाहिक जीवन अनुकूल रहने वाला है। अगर धन से संबंधित समस्याओं से जूझ रहे हैं तो इस दौरान आप इससे उभर सकते हैं… आपकी आमदनी में बढ़ोत्तरी की प्रबल संभावनाएं हैं।

वृश्चिक राशि

गुरु के चौथे भाव में गोचर की वजह से वृश्चिक राशि के जातकों की समस्याएं थोड़ी और बढ़ने वाली हैं… इस अवधि में कुछ पारिवारिक समस्यएं हो सकती हैं, जिसके चलते आर्थिक तंगी की भी संभावना है। आपको कुछ जरूरी यात्राएं भी करनी पड़ सकती हैं, आपको अपनी माताजी की सेहत का खास ध्यान रखना चाहिए। प्रॉपर्टी की खरीद भी संभव है।

धनु राशि

जो जातक धनु राशि से संबंध रखते हैं उनक लिए गुरु का यह गोचर तृतीय भाव से संबंध रखता है… इस अवधि में आपको अपने छोटे भाई-बहनों से प्रेम और सम्मान मिलेगा। परिवार की ओर से भी आपको हर तरह का समर्थन प्राप्त होने जा रहा है… आपकी माताजी की सेहत कमजोर हो सकती है, उनका सही तरीके से ध्यान रखें। आर्थिक लाभ के प्रयास तभी सफल होंगे जब आप पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ आगे बढ़ेंगे।

मकर राशि

के अंतर्गत आने वाले लोगों के लिए यह गोचर दूसरे भाव को प्रभावित करने जा रहा है, इस गोचर की अवधि के दौरान संभवत: आपके परिवार में किसी उत्सव या मंगल कार्यक्रम का आयोजन हो.. अगर किसी नन्हे मेहमना की प्रतीक्षा है तो वह इस दौरान पूरी हो सकती है। व्यापार कर रहे लोगों को विदेश से लाभ प्राप्त हो सकता है।

कुंभ राशि

बृहस्पति का यह गोचर आपकी राशि के ही लग्न भाव में होने जा रहा है… अगर आप किसी तरह की संतान संबंधी चिंता से घिरे हैं तो वह इस दौरान दूर हो सकती है। यह समय विद्यार्थियों के लिए काफी हद तक लाभदायक कहा जा सकता है…. इसके अलावा विवाहित जीवन में अगर किसी प्रकार की समस्याएं चल रही हैं तो वह भी दूर हो सकती हैं।

मीन राशि

मीन राशि एक जातकों के लिए यह गोचर बारहवें भाव में होने जा रहा है… जिसके परिणामस्वरूप मुमकिन है आपको बिजनेस के लिए कहीं दूरस्थ स्थान की यात्रा करनी पड़े। साथ ही इस अवधि में आप अपने धार्मिक आचरण की वजह से अपनी छवि को सुधार पाने में सफल होंगे। प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगी जिससे आपका प्रेम विवाह भी संभव है।

गुरु महेश जैन
इंटरनेशनल ज्योतिषाचार्य
राणापुर जिला झाबुआ
मध्यप्रदेश मो.7000098868
9425188009

 

लोकल इंदौर का एप गूगल से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें... 👇 Get it on Google Play

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here